बेटी बचाव बेटी पढाओ पर कुछ बेहतरी पोस्टर !

  •  
  •  
  •  
  • 26
  •  
  •  
    26
    Shares

बेटी बचाओ, बेटी पढाओ भारत सरकार का एक अभियान है जिसका उद्देश्य भारत में लड़कियों के लिए जागरूकता पैदा करना और कल्याणकारी सेवाओं की दक्षता में सुधार करना है। इस योजना को 100 करोड़ की प्रारंभिक निधि के साथ शुरू किया गया था।

हमारे देश में 21 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में लिंग अनुपात में अंतर है। अगर जिला स्तर पर बात करें तो 640 जिलों में से 429 जिलों ने गिरता लिंग अनुपात अनुभव किया है। 

22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री जी ने पानीपत में जब बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना (Beti Bachao Beti Padhao Scheme – BBBP) का आयोजन किया तब तीन मुख्य लक्ष्यों को ध्यान में रखते हुए इसकी शुरुआत की गयी। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के यह लक्ष्य (Beti Bachao Beti Padhao Objectives) कुछ इस प्रकार से हैं

  • कन्या भ्रूण हत्या का रोकथाम (Prevention of gender-biased sex-selective elimination)
  • कन्याओं की सुरक्षा व समृद्धि (Ensuring survival & protection of the girl child)
  • बालिकाओं की शिक्षा और भागीदारी सुनिश्चित करना (Ensuring education & participation of the girl child)


बेटी बचाओ अभियान क्यों आवश्यक है ?

इस संसार में ऐसे कई घटनाएं हुई है, जिन्होंने इस बात को प्रमाणित किया है कि महिलाएं हर क्षेत्र में ना सिर्फ पुरुषों के बराबर है बल्कि की कई क्षेत्रों में उनसे आगे भी है। इन्हीं में से हमने नीचे कुछ बातों पर चर्चा की है

 

  • लड़किया किसी क्षेत्र में लड़कों की तुलना में पीछे नही है और वह हर क्षेत्र में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करती है।
  • 1961 से कन्या भ्रूण हत्या एक गैर कानूनी अपराध है और लिंग परीक्षण के बाद गर्भपात को रोकने के लिये प्रतिबंधित कर दिया गया है। सभी लोगों को इन नियमों का पालन करना चाहिए और लड़कियों को बचाने का हरसंभव प्रयास करना चाहिए।
  • लड़कियाँ लड़कों की तुलना में अधिक आज्ञाकारी, कम हिंसक और अभिमानी साबित हो चुकी है।
  • वो अपने परिवार, नौकरी, समाज या देश के लिए ज्यादा जिम्मेदार साबित हो चुकी है।
  • वो अपने माता-पिता की और उनके कार्यों की अधिक परवाह करने वाली होती है।
  • एक महिला माता, पत्नी, बेटी ,बहन आदि होती है। इसलिए हम में से प्रत्येक व्यक्ति को लड़कियों के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को समझना चाहिए।

आजके इस लेख में हम आपको बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के उपर कुछ बेहतरीन पोस्टर बतायंगे जिसे आप बना के इस मुहीम को और आगे बढ़ा सकते है 

Beti Bachao Beti Padhao Poster Drawing

बेटिया तो है ईश्वर का उपहार

मत छीनो इनके जीने का अधिकार

beti bachao beti padhao poster

अगर करनी है जीवन और समाज की सुरक्षा

तो बेटियों को पढ़ा लिखाकर करो इनकी रक्षा

beti bachao beti padhao poster in drawing

 

बेटी बचाओ बेटी पढाओ

बेटी की रक्षा करके आदर्श माँ बाप का फर्ज निभाओ

लड़का पढ़े तो अकेला बढ़े, लड़की पढ़े तो दो परिवार आगे बढ़े.

beti bachao beti padhao poster in hindi

बेटी के जीवन को बचाना है

पढ़ा लिखाकर उन्हें आगे बढ़ाना है

beti bachao beti padhao poster making

जिस घर में होता है बेटियों का सम्मान

वह घर फिर बन जाता है स्वर्ग समान

drawing on beti bachao beti padhao

अगर जीवन को आगे बढ़ाना है

तो बेटियों के जीवन को सुरक्षित बनाना है

beti bachao beti padhao drawing

दहेज प्रथा को अब दूर भगाओ

दहेज़ रुपी दानव से बेटी के जीवन को बचाओ

अब न बनाओ कोई नया किस्सा,

 बेटियों को दो अब समाज में हिस्सा.

जब – जब खड़ी उठी है नारी, 

हर किसी पर पड़ी है भारी.

ये भी जाने l 

 

भारत के प्रत्येक नागरिक को कन्या शिशु बचाओ के साथ-साथ इनका समाज में स्तर सुधारने के लिए प्रयास करना चाहिए। लडकियों को उनके माता-पिता द्वारा लडकों के समान समझा जाना चाहिए और उन्हें सभी कार्यक्षेत्रों में समान अवसर प्रदान करने चाहिए।

बेटी बचाओ अभियान को लोगों को सिर्फ एक विषय के रुप में नहीं लेना चाहिये, ये एक सामाजिक जागरुकता का मुद्दा है जिसे हमें गम्भीरता से लेने की आवश्यकता है। लोगों को लड़कियों को बचाना और सम्मान करना चाहिये क्योंकि वो पूरे संसार का निर्माण करने की शक्ति रखती है। वो किसी भी देश के विकास और वृद्धि के लिये समान रुप से आवश्यक है।

हमें बेटियों से नफरत की भावना, उन्हें कोख में मारने की कोशिश जैसे चीजों पर बदलाव लाने के लिए कार्य करने की आवश्यकता है। हमें समाज और देश की भलाई के लिए उसे सम्मानित और प्यार करना चाहिए। वो लड़कों की तरह की देश के विकास में समान रुप से भागीदार है।

  •  
    26
    Shares
  •  
  •  
  •  
  • 26
  •  

Leave a Comment