राजीव गांधी किसान न्याय योजना

rajiv gandhi kisan nyay yojna

छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वकांक्षी योजना राजीव गांधी किसान न्याय योजना की घोषणा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री एवं वित्त मंत्री भूपेश बघेल ने 2020-2021 के विधानसभा बजट सत्र के दौरान करी थी। 

इस योजना में राज्य के किसानों को उनकी धान की फसल का उचित दाम दिया जाएगा। इस महत्वकांक्षी योजना के तहत राज्य सरकार किसानों को उनके धान की फसल के समर्थन मूल्य के अंतर की राशि मुहैया कराएगी। 

इसके अलावा इस योजना का लाभ मक्का और गन्ना उगाने वाले किसानों को भी दिया जाएगा। इस लेख के माध्यम से हम आपको राजीव गांधी किसान न्याय योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं। अतः हम आपसे अनुरोध करते हैं कि इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना का उद्देश्य 

इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य किसानों को धान की खेती से होने वाले नुकसान को कम करना है। इस योजना के लिए राज्य सरकार ने 5700 करोड़ रुपए का बजट रखा है। इस योजना की घोषणा भूपेश बघेल ने बजट सत्र के दौरान करी थी और अब विधानसभा से इस योजना को मंजूरी मिलते ही इस पर काम शुरू हो चुका है। 

इस योजना का लाभ उठाने के लिए इच्छुक किसानों को इस योजना के तहत आवेदन करना होगा। सरकार का मानना है कि इस योजना की वजह से किसानों को काफी मदद मिलेगी। इस योजना के अंतर्गत साल भर में 4 बार किसानों के खाते में सहायता राशि भेजी जाएगी।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना मुख्य तथ्य

योजना का नामराजीव गांधी किसान न्याय योजना
आरम्भ की गयीभूपेश बघेल
लाभार्थीछत्तीसगढ़ के किसान
उद्देश्यकिसानों को उनकी फसलों की सही लागत देना !
ऑफिसियल वेबसाइटComing Soon !!!! 

राजीव गांधी किसान न्याय योजना की दूसरी किस्त

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की जयंती के अवसर पर 20 अगस्त को इस योजना की दूसरी किस्त की राशि राज्य के 19 लाख किसानों को दी गई। 

राज्य के किसानों को ₹1500 की सहायता राशि उनके बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर दी गई है। अगर आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो तुरंत इस योजना के लिए आवेदन करें।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना में हुआ नया अपडेट

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस योजना का ऐलान करते वक्त इस योजना के लिए 5700 करोड़ रुपए का बजट रखा था जिसे अब बढ़ाकर 5750 करोड़ रुपए कर दिया गया है। 

इस योजना के अंतर्गत धान और मक्के की खेती करने वाले किसानों को ₹10,000 प्रति एकड़ के रूप में और गन्ने की खेती करने वाले किसानों को ₹13,000 प्रति एकड़ के रूप में दिए जाएंगे। 

इस योजना के तहत अभी केवल धान, मक्का और गन्ना उगाने वाले किसानों को ही लाभ दिया जाएगा लेकिन आने वाले कुछ समय में अन्य फसलों को भी इस योजना के अंतर्गत लाया जाएगा।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना में मिलने वाली सहायता धनराशि

इस योजना के तहत धान और मक्के की खेती करने वाले किसानों को प्रति एकड़ ₹10000 दिए जाएंगे जबकि गन्ने की खेती करने वाले किसानों को ₹13000 प्रति एकड़ की सहायता राशि प्रदान की जाएगी। 

किसानों को गन्ने की एमआरपी के आधार पर प्रति क्विंटल 261 रुपए और प्रोत्साहन या सहायता राशि के रूप में 93.75 रुपए दिए जाएंगे अर्थात किसानों को प्रति क्विंटल के रूप में ₹375 की राशि दी जाएगी।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ

  • इस योजना की मदद से किसानों को गरीबी रेखा से ऊपर उठाना है।
  • राजीव गांधी किसान न्याय योजना की मदद से किसानों की आय में बढ़ोतरी होगी।
  • इस योजना का लाभ केवल छत्तीसगढ़ के किसान ही उठा सकते हैं।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना में आवेदन की प्रक्रिया

छत्तीसगढ़ सरकार ने इस योजना के लिए किसी भी प्रकार की वेबसाइट जारी नहीं करी है इस योजना का लाभ उठाने के लिए आप अपने नजदीकी किसान बैंक में जाकर संपर्क कर सकते हैं।

इस लेख में हमने छत्तीसगढ़  सरकार द्वारा शुरू करी गई  राजीव गांधी किसान न्याय योजना के बारे में बताया है। आशा करते हैं आपको इस योजना के बारे में सभी जानकारियां मिल गई होंगी। अगर इस योजना के तहत कोई भी अन्य अपडेट छत्तीसगढ़   सरकार द्वारा जारी किया गया तो हम उसे इस लेख में अपडेट कर देंगे।

Related Queries : किसान न्याय योजना आवेदन | छत्तीसगढ़ राजीव गांधी किसान न्याय योजना फॉर्म | Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana Application | राजीव गांधी किसान न्याय योजना In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *