Fathers day poem in hindi

20 Heart Touching Fathers Day Poem Or Poetry

इस बार Father’s Day 2022 में 22 जून को है . ये दिन पिता के सम्मान और प्यार के रूप में मनाया जाता है. इस दिन की शुरुआत 19 जून 1910 से हुई थी. लेकिन इसे आधिकारिक मान्यता 1972 में मिली. इस विशेष दिन पर बच्चे अपने पिता को गिफ्ट देते हैं, विश करते हैं और उनके साथ टाइम बिताते हैं. ज्यादातर जगहों पर इसे जून के तीसरे संडे को सेलिब्रेट किया जाता है । 

हमारे जीवन में जितने भी लोग है उनका हमारे प्रति अलग अलग महत्व है| हमारे प्रिय माता और पिता का भी हमारे जीवन में बहुत अलग अलग रोले है| लोग कहते है की माँ बच्चे को जन्म देती है ।

तो इसलिए माँ से बच्चे का ज्यादा लगाव होता है पर ऐसा नहीं है | पिता भी अपने बच्चो से उतना ही प्यार करते है जितना माता करती है पर वे कभी दर्शाते नहीं है| पिता अपने परिवार के लिए रोज़ दिन रात मेहनत करके उन्हें दुनिया के हर सुख से रूबरू करवाते है| इस फादर्स डे के उपलक्ष में एक दिन सभी पिताओ के नाम ।

पिता अपने परिवार के लिए रोज़ दिन रात मेहनत करके उन्हें दुनिया के हर सुख से रूबरू करवाते है| इस फादर्स डे के उपलक्ष में एक दिन सभी पिताओ के नाम

इस पोस्ट में हम आपके साथ पिता, पापा, डैडी, अब्बा, बाऊजी, बाबूजी पर कविताएँ शेयर कर रहे है। ये कवितायेँ आपको हमारे जीवन में पिता का वास्तविक अर्थ और पिता का महत्व को समझने में आपकी मदद करेंगी।

पिता पर कविता – Fathers Poems in Hindi

तो अगर आप भी इस फादर्स डे पर अपने पिता को खास महसूस करवाना चाहते हैं तो उन्‍हें ये दिल छू लेने वाली , पिता पे शायरियां और मैसेज भेज कर विश कर सकते हैं।

 

Heart Touching Fathers Day Poem Or Poetry in Hindi 2022

 Happy Fathers Day Poem in Hindi

“पिता”

माँ घर का गौरव तो पिता घर का अस्तित्वा होते हैं.
माँ के पास अश्रुधारा तो पिता के पास संयम होता है.
दोनो समय का भोजन माँ बनाती है
तो जीवन भर भोजन की व्यवस्था करने वाले पिता होते हैं.
कभी चोट लगे तो मुंह से ‘ ओह माँ ’ निकलता है
रास्ता पार करते वक़्त कोई ट्रक पास आकर ब्रेक लगाये तो ‘ बाप रे ’ ही निकलता है.
क्यूं कि छोटे छोटे संकट के लिये माँ याद आती है
मगर बड़े संकट के वक़्त पिता याद आते हैं.
पिता एक वट वृक्ष है जिसकी शीतल च्हाव मे,
सम्पूर्ण परिवार सुख से रहता है…!!!!



(papa par kavita)

(1)

मैं पतंग, पापा है डोर
पढ़ा लिखा चढ़ाया आकाश की ओर,
खिली काली पकड़ आकाश की ओर,
जागो, सुनो, कन्या भ्रूण हत्यारों,
पापा सूरज की किरण का शोर,
मैं बनू इंदिरा सी, पापा मेरे नेहरू बने,
बेटियों के हत्यारों, अब तो पाप से तौबा करो,
पापा सच्चे, बेहद अच्छे, नेहरू इंदिरा से वतन भरे,
बेटियां आगे बेटो से, पापा आओ पाक एलान करो,
देवियों के देश भारत की जग में, ऊंची शान करें !


Miss You Sad Hindi Poem on Lost of Father

(2)

जिन्दगी तो मेरी कट रही है आपके बाद भी….
मगर आप के बिन जीने में वो बात नहीं…उपर से तो सब मेरे अपने ही अपने है…
मगर आप की तरह अन्दर से कोई मेरे साथ नही…
ख्याल सब रखते है मेरा अपने तरीके से अच्छी तरह…
म्गर अपसे जिद करने का माजा अब आता नहीं…लडाईयां तो अब भी होती है घर में हमारे…
मगर आपसे वो मीठा मीठा लडने का मजा कोई दे पाता नहीं…
मै आज भी शाम को दरवाजे पे नजरें टिकाये रहती हूं…
आयेंगे अभी बाबा चॉकलेट और तोफे ले के मै अपने से दिल से बार बार कहती हूं…मगर जब देखती हूं आस आस आप नहीं होते…
तब सच जानियें आपके ये बच्चे छिप छिप के अकेले में है बहुत रोते..
कोई भूल थी अगर मेरी तो एक दफा कहते मुझे…
ऐसे अकेला छोड जाना कोई अच्छी बात नहीं…..


(Small Poem on father in Hindi)

(3)

“कभी अभिमान तो कभी स्वाभिमान है पिता
कभी धरती तो कभी आसमान है पिता
जन्म दिया है अगर माँ ने
जानेगा जिससे जग वो पहचान है पिता….”
“कभी कंधे पे बिठाकर मेला दिखता है पिता…
कभी बनके घोड़ा घुमाता है पिता…
माँ अगर मैरों पे चलना सिखाती है…
तो पैरों पे खड़ा होना सिखाता है पिता…..”
“कभी रोटी तो कभी पानी है पिता…
कभी बुढ़ापा तो कभी जवानी है पिता…
माँ अगर है मासूम सी लोरी…
तो कभी ना भूल पाऊंगा वो कहानी है पिता….”
“कभी हंसी तो कभी अनुशासन है पिता…
कभी मौन तो कभी भाषण है पिता…
माँ अगर घर में रसोई है…
तो चलता है जिससे घर वो राशन है पिता….”
“कभी ख़्वाब को पूरी करने की जिम्मेदारी है पिता…
कभी आंसुओं में छिपी लाचारी है पिता…
माँ गर बेच सकती है जरुरत पे गहने…
तो जो अपने को बेच दे वो व्यापारी है पिता….”
“कभी हंसी और खुशी का मेला है पिता…
कभी कितना तन्हा और अकेला है पिता…
माँ तो कह देती है अपने दिल की बात…
सब कुछ समेत के आसमान सा फैला है पिता….”


 Pita par kavita in Hindi
(4)

 

कुबेर तो नहीं कुबेर सा खजाना हैं,
पापा आसमान तो नहीं आसमान सा छत हैं,

पापा पहलवान तो नहीं पहलवान से रक्षक हैं,
पापा खुदा तो नहीं फिर भी हर ख्वाहिश पूरी करते हैं,

पापा गौतम बुद्ध तो नहीं फिर भी हर गलती की माफी देते हैं ,
पापा महर्षि दधिची तो नहीं फिर भी हमारे लिए अपने सुख त्यागते हैं ,

पापा जज से हैं फिर भी फैसला नहीं,
सलाह सुनाते हैं, पापा जेलर से हैं फिर भी सजा से नहीं,
प्यार से समझाते हैं पापा।


 Kavita for papa

(5)

What makes a man a hero?
I’ve often thought this through.
It’s someone who is macho?
It’s someone who is true?

No, that is not a hero.
He’s just a simple man.
Always there when things go wrong
and who does the best he can.

He lends a strong shoulder
To ease the flow of tears
He holds high the lantern
To drive away your fears.

His smile was just enough
To give encouragement.
His frown more than adequate
To make one soon relent.

When some had need of guidance
His ears he’d freely lend
Advice came in abundance
You chose, not him could you offend.

He had no need of medals
Or glory this is true.
That’s why, dear Grandpa
Our hero has to be you.


Mere papa Hindi Poem

(6)

 

हर घर में होता है वो इंसान
जिसे हम पापा कहते है।

सभी की खुशियों का ध्यान रखते
हर किसी की इच्छा पूरी करते

खुद गरीब और बच्चों को अमीर बनाते
जिसे हम पापा कहते है।

बड़ों की सेवा भाई-बहनों से लगाव
पत्नी को प्यार, बच्चों को दुलार

खोलते सभी ख्वाहिशों के द्वार
जिसे हम पापा कहते है।

बेटी की शादी, बेटों को मकान
बहुओं की खुशियां, दामादो का मान

कुछ ऐसे ही सफर में गुजारे वो हर शाम
जिसे हम पापा कहते है।


Poem on Father and Daughter in Hindi

(7)

I love you and I miss you, Dad,
and though you’ve passed away,
you’ll never be forgotten,
for I think of you each day.
If heaven celebrates this day
how special it will be.
A gathering of the many dads
upon our family tree.
Your father and grandfather
and great grandfather too.
How wonderful it is, if they
can spend this day with you.
By Ron Tranmer May you know how much I love you
though I’m here and you are there.
Happy Father’s Day in heaven
to the best dad anywhere!
~ By Ron Tranmer

ये भी पढे : 

Heart Touching Poems on Father in Hindi

(8)

जब किसी मुश्किल सवाल का जवाब हो न पता
तब याद आतें है मुझे अपने प्यारे पिता

लगते हैं वो बाहर से थोड़े सख्त
पर हमेशा देते हैं मुझको अपना वक़्त

बुरी संगत में न मैं पड़ जाऊँ
इसलिये रखते हैं मुझपर नज़र

जब भी पिताजी बाज़ार जाते हैं
मेरे लिये ज़रूर कुछ लाते हैं

मुझे अपने पिताजी पर बहुत गर्व है
पिताजी साथ हैं, तो खुश हर पर्व है


Emotional Poem on Father in Hindi

(9)

Dear Daddy

In all things I try to do,
I want to do them just like you,
I’m watching every move you make,
and trying to take each step you take,

Although right now I’m sort of small,
When I’m with you, I feel ten feet tall,
Like you, I want to be brave and smart,
because I love you daddy, with all my heart,
When I’m older I’ll be so glad,
if I grow up to be,

JUST LIKE DAD.


 inspirational Poem on Father in Hindi

(10)

“कभी अभिमान तो कभी स्वाभिमान है पिता
कभी धरती तो कभी आसमान है पिता
जन्म दिया है अगर माँ ने
जानेगा जिससे जग वो पहचान है पिता….”

“कभी कंधे पे बिठाकर मेला दिखता है पिता…
कभी बनके घोड़ा घुमाता है पिता…
माँ अगर मैरों पे चलना सिखाती है…
तो पैरों पे खड़ा होना सिखाता है पिता…..”


 Pita ke upar Kavita

(11)

Hero Dad

You are my hero, Dad
You’re my secure foundation.
When I think of you, I’m filled with love
And fond appreciation.

You make me feel protected;
I’m sheltered by your care.
You’re always my true friend; and Dad,
When I need you, you’re always there.

You have a place of honor
Deep within my heart.
You’ve been my superhero, Dad,
Right from the very start.

By Joanna Fuchs


Poem on Papa in Hindi

(12)

मेरा साहस मेरी इज़्ज़त…मेरा सम्मान है पिता
मेरी ताकत मेरी पूंजी…मेरी पहचान है पिता ….!!

घर की एक एक ईट में…
शामिल उनका खून पसीना …

सारे घर की रौनक उनसे.. सारे घर की शान है पिता !!
मेरी इज़्ज़त मेरी शौहरत… मेरा रुताब मेरा मान है पिता…

मुझे हिम्मत देने वाला मेरा अभिमान है पिता….!!
सारे रिश्ते उनके दम से सारी बाते उनसे है…..

सारे घर के दिल की धड़कन सारे घर की जान है पिता..!!
शायद रब ने देकर भेजा फल ये अच्छे कर्मो का …..
उसकी रहमत उसकी नियामत उसका है वरदान पिता…!!

happy fathers day shayari in hindi

 Poem for Papa from Daughter
(13)

I am so very pleased to have this chance to say
I am so glad a few years ago they produced a father’s day
It gives me the opportunity to tell you in a card
What a wonderful dad you are – you work at it really hard
Whenever I need a helping hand, you are never far away
I am proud to be your son/daughter – have a great father’s day


 Pita Par Kavita

(14)

ऊँगली को पकड़ कर सिखलाता,
जब पहला कदम भी नहीं आता,
नन्हे प्यारे बच्चे के लिए,
पापा ही सहारा बन जाता,
पापा हर फर्ज निभाते है,
जीवन भर कर्ज चुकाते है,
बच्चे की एक ख़ुशी के लिए,
अपने सुख भूल ही जाते है,
फिर क्यों ऐसे पापा के लिए,
बच्चे कुछ कर नहीं पाते है,
ऐसे सच्चे पापा को क्यों,
पापा कहने में भी सकुचाते है,
पापा का आशीष बनाता है,
बच्चे का जीवन सुखदायी,
पर बच्चे भूल ही जाते है,
यह कैसी आंधी है आई,
जिससे सब कुछ पाया है,
जिसने सबकुछ सिखलाया है,
कोटि नमन ऐसे पापा को,
जिसने हर पल साथ निभाया है,
प्यारे पापा के प्यार भरे,
सीने से जो लग जाते है,
सच्च कहती हूँ विश्वास करो,
जीवन में सदा सुख पाते हैं।


 Fathers Day Poems for those in heaven

(15)

Best Dad

I have a very special Dad
One which I would never trade.
He is kind and considerate too
He makes me laugh when I am blue.

He has had his share of ups and downs
But he determined he is and holds his ground.
His family is important to him
And when he is with them he has a grin.

He loves us just the way we are
He is the best Dad by far!

 


 

 Papa ke liye Kavita

(16)

एक बचपन का ज़माना था,
जिस में खुशियों का खजाना था,
चाहत चाँद को पाने की थी,
पर दिल तितली का दीवाना था,
खबर ना थी कुछ सुबहा की,
ना शाम का कोई ठिकाना था,
थक कर आना स्कूल से,
पर खेलने भी जाना था,
माँ की कहानी थी,
परियों का फ़साना था,
बारिश में कागज की नाव थी,
हर मौसम सुहाना था,
रोने की कोई वजह ना थी,
और मैं अपने “पापा” का दीवाना था।


 Fathers Day Poems From Girlfriend To boyfriend

(17)

A little girl needs Daddy
For many, many things:
Like holding her high off the ground
Where the sunlight sings!

Like being the deep music
That tells her all is right
When she awakens frantic with
The terrors of the night.

Like being the great mountain
That rises in her heart
And shows her how she might get home
When all else falls apart.

Like giving her the love
That is her sea and air,
So diving deep or soaring high
She’ll always find him there.

By Unknown Author

Funny Fathers Day Poems From Wife in Hindi

(18)

आपकी आवाज मेरा सुकून है,
आपकी खामोशी, एक अनकहा संबल ।
आपके प्यार की खुशबू जैसे,
महके सुगंधित चंदन।
आपका विश्वास,मेरा खुद पर गर्व ।
दुनिया को जीत लूं, फिर नहीं कोई हर्ज ।
आपकी मुस्कान, मेरी ताकत,
हर पल का साथ, खुशनुमा एहसास
दुनिया में सबसे ज्यादा,
आप ही मेरे लिए खास
पापा,
आपकी शुक्रगुजार है,
मेरी हर एक सांस …. ।।


Happy Fathers Day To My Husband Poems
(19)

 

Phyllis C. Michael

My dad and I – we think alike,
He knows just what I mean
Before I even say a word
He reads, well, in between.

My dad and I – we like to fish
Or build a model plane,

Or fix a broken chair or two
Or just a windowpane.

My dad and I – we know the score
Of every single game;
Sometimes he’s really busy, too
But he takes me just the same.

My dad and I – we go swimming too,
Each year and sometimes twice.
My dad and I – we do everything;
My dad – he’s really nice.


Happy Fathers Day Short Poems in Hindi

(20)

खिल गई है मुस्कुराहट, उसके चेहरे पर आया है नूर
निहार-निहार चूमे माथा,लहर खुशी की छाया है सुरूर

गर्व से फूल गया है सीना ,बना है वह आज पिता
अंश को अपने गोद में लेकर, फूला न समाया, जग जीता
सपने नए लगा है संजोने, पाया है सुख स्वर्ग समान
तिनका-तिनका जोड़-जोड़, करने लगा नीड़ निर्माण

बीमा, बचत, बैंकों में खाते, योजना हुई नई तैयार
खेल-खिलौने,घोड़ा-गाड़ी, खुशियां मिली उसे अपार

सांझ ढले जब काम से आता ,लंबे-लंबे डग भरता
ममता, प्यार हृदय में रखता ,जगजाहिर नहीं करता

कंधों पर बैठा वो खेलता, कभी घोड़ा वह बन जाता
हं सी, ठिठोली, रूठ ,मना कर, असीम सुख वह पाता

ढलने लगी है उम्र भी अब तो, अंश भी होने लगा जवां
पैरों के छाले नहीं देखता,लेता चैन नहीं अवकाश

बच्चों की खुशियों की खातिर, हर तकलीफ़ रहा है झेल
जूतों का अपने छेद छुपाता, मोटर गाड़ी का तालमेल

अनंत प्यार का सागर है यह,परिंदे का खुला आसमान
अडिग हिमालय खड़ा हो जैसे,पिघले जैसे बर्फ समान

बड़ा अनोखा है ये जुलाहा, बुन रहा तागों को जोड़
सूत से नाते बांध रहा यह, लगा रहा दुनिया से होड़

होने लगी है हालत जर-जर, हिम्मत फिर भी रहा न हार
बेटी की शादी, बेटे का काम ,करने लग रहा जुगाड़

दर्द से कंधे लगे हैं झुकने,रीढ़ भी देने लगी जवाब
खुश है रहता अपनी धुन में, देख संतान को कामयाब

बेटी अब हो गयी पराई, बेटा भी परदेस गया
बाट जोहता रहता हर दिन,आएगा संदेस नया

खाली हाथ अब जेब भी खाली, फिर भी सबसे मतवाला
बन गया है धन्ना सेठ, ये जुलाहा, रखवाला…


Short Funny Fathers Day Poems From Daughter

(21)

Author Unknown

Daddy, I love you
For all that you do.
I’ll kiss you and hug you
‘Cause you love me, too.

You feed me and need me
To teach you to play,
So smile ’cause I love you
On this Father’s Day.


Happy Fathers Day images & Quotes 2022

 

Happy Fathers Day Whatsapp Status 2022

ये भी पढे : 

आशा है Friends की आपको हमारे द्वारा “Happy Fathers Day Poem in Hindi & English 2022 ” के बारे मे लिखा गया Blog पसंद आया होगा। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने Social Media Sites पर Share ज़रूर करें l

अगर आप भविष्य में ऐसी जानकारी लेना चाहते हैं तो आप हमारे ब्लॉक को सब्सक्राइब करें और साथ के साथ आप हमारे  इंस्टाग्राम पेज और  फेसबुक पेज को लाइक करें जिससे आपको हमारे आने वाली हर पोस्ट की अपडेट समय से मिलती रहे l

1.5/5 - (2 votes)

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Pin It on Pinterest

Scroll to Top