डिप्रेशन पर निबंध : Depression Essay in Hindi

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

डिप्रेशन पर निबंध : Depression Essay in Hindi

Essay on Depression in Hindi : दोस्तों आज हमने दोस्ती  दिवस पर निबंध कक्षा 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 & 12 के विद्यार्थियों के लिए लिखा है. Get Some Essay on Depression in Hindi for class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9 ,10, 11 & 12 Students.

प्रस्तावना : पिछले कुछ साल पहले भारत  कि सबसे बड़ी न्यूरो साइंस इंस्टिट्यूट ने एक सर्वे की ,ताकि उन्हें एक अंदाजा हो कि हिंदुस्तान में सबसे आम मानसिक रोग कौनसी है। उनको जवाब मिला था “डिप्रेशन“।

हमारे देश में डिप्रेशन सामान्य मनोरोग है।बहुत सारे लोग इस से पीड़ित है। आज हम इस आर्टिकल के जरिए जानेंगे डिप्रेशन क्या होती है,लक्षण क्या होते है और इलाज कैसे की जाती है।

डिप्रेशन एक मनोरोग है। डिप्रेशन में मन बहुत ही ज्यादा उदास रहता है।अगर कुछ अच्छा भी होता हो मन खुश नहीं होता।हम आम तौर पर जो उदासी होती है उसका और  डिप्रेशन का अंतर समझना जरूरी है।आम तौर में जो उदासी होती है वो ज़िन्दगी की ऊंच नीच के कारण होती है,वो कुछ अच्छा होने से ठीक होजता है।

लेकिन डिप्रेशन की उदासी ऐसी होती है जैसे की ज़िन्दगी में कुछ भी अच्छा हो जाए जैसे कि कोई त्योहार,या फिर खुशी की कोई मौका आजाए फिर भी खुशी नहीं मिलती।इसको बोलते है परसिस्टेंट एंड पर्विसिव सड़नेस। ये ऐसी उदासी है जो हर समय हुर मौके पर बनी रहती है।

डिप्रेशन के लक्षण क्या हैं

पहला लक्षण :

तो है हमेशा उदास रहना। इसका दूसरा लक्षण है दिलजसबी को खो जाना (लॉस ऑफ इंटरेस्ट)। किसी भी काम पर मन नहीं लगता है चाहे वो नौकरी हो,पढ़ाई हो,रिश्ते हो। कई बार लोग कहते है कि जिंदगी में खुशी ख़तम ही हो गई है।ऐसा लगने लगता है।किसी भी चीज करने से मजा नहीं आता।

दूसरा लक्षण :

ग्लानि (Guilt)। बहुत सारे लोगों को ग्लानि महसूस होती है।हर छोटी सी बात पर अपने आप को कसूरवार मानते हैं। अपने आप को कोसते रहते हैं।

तीसरा लक्षण:

ये है शारीरिक कमजोरी।शरीर में हमेशा थकान सी रहने लगता है।ऐसा लगता है जैसे उन्हें काम करने के लिए कोई ताकत ही नहीं है।इसमें लोग हमेशा थकी थकी सी रहने लगते हैं।

चोथा लक्षण :

ये है ध्यान बटक जाना और खत्म भी होजाना।आप चाहे पढ़ रहे  हो,या काम कर रहे हो आपका ध्यान काम पर लगता ही नहीं।

पाचवा लक्षण:

ये है भूक में बदलाव आना।आम तौर पर डिप्रेशन मरीजों को भूख हो जाती हैं। भूख कम होने कि वजह से वजन भी काम होजाता है।लेकिन कुछ लोगों को भूख काम होने की जगह बढ़ भी जाती है इसकी वजह से उन लोगों का वजन भी बाद जाता है।

छठा लक्षण:

नींद में दिक्कतें आना। नींद की दिक्कत आम तौर पर पाए जाने वाली लक्षण हैं।उन लोगों को नींद काम होजाती है।इंसान को नींद नहीं आती। कुछ लोगों में नींद अनी देर से शुरू होती है। कुछ लोगों को नींद आती है लेकिन टूट टूट के आती है। डिप्रेशन में टाइपिकल नींद की दिक्कत है जिसमें सवेरे सवेरे नींद टूट जाती हैं।

आखरी लक्षण है अपने आप को नुकसान पहुंचने की खयाल आना। लोगों को डिप्रेशन में कई बार आत्महत्या करने की विचार भी आते है।

यदि इस प्रकार के लक्षण दो हफ्तों से ज्यादा है तो ये डिप्रेशन हो सकती हैं।ऐसा नहीं कि कोई कारण कि वजह से ही ये लक्षण दिखे बल्कि बिना कोई कारण के भी ऐसे लक्षणों का आने की संभावना है।

डिप्रेशन के कारण क्या हैं

  • डिप्रेशन के लिए बहुत सारे वजह हो सकते है। जैसे कि जैविक कारण, मनोवैज्ञानिक कारण, सामाजिक कारण आदि।
  • जैविक मतलब दिमाग में कुछ रसायन होते है अगर उनकी मात्रा में  कुछ कमी होती है तो जैविक कारण से डिप्रेशन की लक्षण आने लगते  हैं।
  • इसके अलावा सामाजिक कारण जैसे की पारिवारिक दिक्कतें, रिश्तों में दिक्कतें, या फिर काम में  ये सब डिप्रेशन की लक्षणों को लाने केलिए जिम्मेदार होते हैं।

डिप्रेशन के लिए इलाज़

ज्यादातर लोग सोचते है की प्यार से बात करके,एक दूसरे को सहयोग करके इस बीमारी को ठीक कर सकते है।कुछ हद तक ये बात सही है  लेकिन अगर बीमारी ज्यादा बढ़ गई तो मेडिकल इलाज़ करना बहुत जरूरी है।

मेडिकल इलाज़ में दो प्रकार होते है:

  • अगर डिप्रेशन जैविक  कारण की वजह से है तो उसे  आंटी डिप्रेसेंट की मदद से ठीक कर सकते है।
  • मानसिक और सामाजिक वजह से आती हुई डिप्रेशन को कुछ काउंसलिंग देकर ठीक कर सकते है।इसको मेडिकल में साइको थेरेपी कहते है।

निष्कर्ष/उपसर्ग : दवा और बातचीत(काउंसलिंग)  को मिलाकर ही अच्छा इलाज़ हो सकता है। दवाइयों की डर से कुछ लोग डिप्रेशन को बढ़ने की मौका देते हैं।अगर सही समय पर इलाज शुरू कर दी जाय तो ठीक होना आसान हैं। डिप्रेशन की इलाज संभव है। उस्केलिए इंसान को  डॉक्टर के साथ सहयोग करना जरूरी है।

How to deal with Depression

ये भी पढ़े l 

अगर आपको किसी और टॉपिक पर निबंध चाहिये तो आप यह क्लिक करे – Hindi Essay

उम्मीद है दोस्तो आपको हमारे द्वारा “Essay on Depression in Hindi” दी गई ये जानकारी अच्छी लगी होगी । अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया तो ये आर्टिकल अपने दोस्तों जे साथ शेयर करे और आप हमें फेसबुक और  इंस्टाग्राम पेज पर फॉलो कर सकते है जिससे आपको हमारे नए आर्टिकल की जानकारी मिलती रहे । धन्यवाद

Related Queries : Depression kya hai , Depression se chutkara kaise paye, depression essay in hindi, depression ke lachhan, depression kyou hota hai , essay on depression in hindi, short paragraph on depression,  

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment