ITI Course क्या है ITI Course के बारे में पूरी जानकारी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Last updated on June 6th, 2020 at 04:01 am

हैलो दोस्तों आज हम बात करेंगे ITI के बारे में। ITI Full Form क्या है ITI होता क्या है  ITI करने के क्या-क्या फायदे और इसमें कितने प्रकार के Courses कराये जाते हैं ? तथा ITI करने में कितना समय लगता है ? यदि आप ITI के बारे मे पूरी जानकारी लेना चाहते हैं तो हमारे इस Article को अंत तक अवश्य पढ़ें।

आईटीआई क्या है : what is iti in hindi

ITI जिसकी शुरुआत 1950 से हुई थी। ये ऐसे प्रशिक्षण संस्थान है जो कि Students को 10th या 12th करने के बाद किसी भी Industry में काम करने लायक Training प्रदान करते हैं।

ITI संस्थानों के द्वारा विभिन्न प्रकार के Courses कराये जाते हैं जिन्हें Trades के नाम से भी जाना जाता है। जैसे : Electricians, Information Technology, Fashion Designer, Firemen, Draughtsman आदि।

इन सभी Courses को करने का समय 6 महीने से लेकर 2 वर्ष तक का होता है। इनमें से अधिकांश Course 2 वर्ष के होते हैं। इन सभी Courses का Examination Pattern सेमेस्टर या वार्षिक दोनों तरह से हो सकता है। ITI के सभी संस्थान केन्द्रीय स्तर पर DGET (Directorate General of Employment & Training) की देखरेख में संचालित होते हैं। वहीं राज्य भी अपने स्तर पर Courses चला सकते हैं।

केन्द्रीय स्तर पर सभी ITI संस्थानों को प्रशिक्षण पाठ्यक्रम व Certificate NCVT द्वारा जारी किया जाता है। वहीं ऐसे ITI संस्थान जो राज्य स्तर पर चलते हैं उनका प्रशिक्षण पाठ्यक्रम तथा Certificate SCVT द्वारा जारी किया जाता है। यदि आप इनके बारे में और अधिक जानकारी चाहते हैं तो आप हमारा NCVT/SCVT वाला Blog पढ़ सकते हैं।

ITI का Full Form in Hindi / ITI Meaning in Hindi : INDUSTRIAL TRAINING INSTITUTE/ औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान

ये भी पढ़े 

आईटीआई करने की योगता : Eligibility for ITI 

  • किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 8 वीं, 10 वीं या मैट्रिक में पास।
  • कुछ आईटीआई पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं जिन्हें आप 10 वीं के बाद भी शामिल कर सकते हैं।
  • 12 वीं पास छात्र भी आईटीआई कोर्स में शामिल हो सकते हैं।
  • अधिकांश पाठ्यक्रमों के लिए, प्रवेश के समय न्यूनतम आयु 14 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए।
  • अधिकतम आयु 40 वर्ष से कम होनी चाहिए। आरक्षित कोटे के छात्रों के लिए आयु में छूट भी उपलब्ध है।
  • अधिकांश राज्य सरकार आईटीआई कॉलेजों के लिए, आपको अलग-अलग sate आईटीआई प्रवेश परीक्षाओं में उपस्थित होना और उत्तीर्ण करना होगा।

ITI Course Details (ITI Trade in Hindi )

List Of ITI Courses 2020

ITI प्रशिक्षण संस्थानों द्वारा लगभग सभी Industries की Training दी जाती है। इसलिए ITI करने वाले Student के पास किसी भी एक Industry का Trade चुनने के लिए बहुत सारे Options होते हैं।

जिनमें से कुछ प्रमुख Industries निम्न हैं :- Mechanical, Electronics, Information Technologies, Fabrication, Automobile,Diesel Mechanics,Lift Mechanics, Computer Software, Sheet Metal, Electrical, Plumbing, Wireman इत्यादि।

अगर आप ITI करने की सोच रहे है तो आपके पास 2 option है एक तो आप 10th बाद ITI कर सकते हो या फिर 8th बाद तो चलिए हम एक नजर Courses पर डाल लेते है

ITI Courses after 10th

Name of the CourseStreamDuration
Tool & Die Maker EngineeringEngineering3 years
Draughtsman (Mechanical) EngineeringEngineering2 years
Diesel Mechanic EngineeringEngineering1 year
Draughtsman (Civil) EngineeringEngineering2 years
Pump OperatorEngineering1 year
Fitter EngineeringEngineering2 years
Motor Driving-cum-Mechanic EngineeringEngineering1 year
Turner EngineeringEngineering2 years
Dress MakingNon-engineering1 year
Manufacture Foot WearNon-engineering1 year
Information Technology & E.S.M. EngineeringEngineering2 years
Secretarial PracticeNon-engineering1 year
Machinist EngineeringEngineering1 year
Hair & Skin CareNon-engineering1 year
Refrigeration EngineeringEngineering2 years
Fruit & Vegetable ProcessingNon-engineering1 year
Mech. Instrument EngineeringEngineering2 years
Bleaching & Dyeing Calico PrintNon-engineering1 year
Electrician EngineeringEngineering2 years
Letter Press Machine MenderNon-engineering1 year
Commercial ArtNon-engineering1 year
Leather Goods MakerNon-engineering1 year
Mechanic Motor Vehicle EngineeringEngineering2 years
Hand CompositorNon-engineering1 year
Mechanic Radio & T.V. EngineeringEngineering2 years
Mechanic Electronics EngineeringEngineering2 years
Surveyor EngineeringEngineering2 years
Foundry Man EngineeringEngineering1 year
Sheet Metal Worker EngineeringEngineering1 year

ITI Courses after 8th

Name of the CourseStreamDuration
Weaving of Fancy FabricNon-engineering1 year
Wireman EngineeringEngineering2 years
Cutting & SewingNon-engineering1 year
Pattern Maker EngineeringEngineering2 years
Plumber EngineeringEngineering1 year
Welder (Gas & Electric) EngineeringEngineering1 year
Book BinderNon-engineering1 year
Carpenter EngineeringEngineering1 year
Embroidery & Needle WorkerNon-engineering1 year
Mechanic TractorNon-engineering1 year

आईटीआई की फीस : ITI Course Fees

भारत में आईटीआई पाठ्यक्रमों के लिए ट्यूशन फीस 5 हजार प्रति वर्ष से शुरू होती है और कुछ निजी संस्थानों के लिए प्रति वर्ष 50 हजार तक जाती है।

सरकारी कॉलेजों की ट्यूशन फीस कम है, जबकि प्राइवेट कॉलेजों की ट्यूशन फीस ज्यादा है। सरकारी कॉलेजों के लिए औसत ट्यूशन फीस लगभग 7 हजार प्रति वर्ष है, और निजी कॉलेजों के लिए, यह लगभग 25 हजार प्रति वर्ष है।

EXAMINATION PATTERN & COURSES DURATION

ITI संस्थानों में विभिन्न Courses का Duration 6 महीने, 9 महीने, 12 महीने यानी 1 साल, 15 महीने व 2 साल तक के होते हैं। इनमें अधिकांश Courses का Duration 2 साल का होता है।

ITI संस्थानों द्वारा कराये जाने वाले सभी Courses का Examination Pattern इस बात पर निर्भर करता है कि वो NCVT से मान्यता प्राप्त हैं या SCVT से मान्यता प्राप्त हैं।

यदि संस्थान NCVT से मान्यता प्राप्त है तो उसमें Examination Pattern Semester वाइस रहता है। सेमेस्टर वाइस Examination में Courses को छह-छह महीने में बाँटा जाता है और प्रत्येक 6 महीने बाद एक Main Exam लिया जाता है।

वहीं SCVT से मान्यता प्राप्त अधिकांश ITI संस्थानों का Examination Pattern वार्षिक तौर पर होता है। जिसमें प्रत्येक वर्ष के अंत में एक Main Exam होता है तथा कुछ ITI संस्थानों में Exam Semester के हिसाब से भी होता है।

ITI करने के क्या-क्या फायदे है : ITIs Benefits 

ITI करने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह एक कम समय व कम खर्च वाला Training Course है। ITI करने के बाद नौकरी मिलने के Chances भी अधिक रहते हैं।

चूंकि भारत एक ऐसा देश है जहां Production और Service Industries सबसे अधिक हैं। इसलिए यहां किसी भी Industry में ऊँचे पदों से ज्यादा काम करने वाले प्रशिक्षित Professionals की आवश्यकता होती है। इसके साथ-ही-साथ ITI करने के बाद आप Apprenticeship करके अपनी योग्यता को और अधिक बढ़ा सकते हैं।

ITI करने वाला Student डिप्लोमा इंजीनियरिंग कॉलेजों में Lateral Entry के लिए भी Eligible हो जाता है। इस प्रकार आप ITI करने के बाद आगे अपनी पढ़ाई जारी रखते हुए डिप्लोमा भी कर सकते हैं।

ITI Certificates को विदेशों में भी बहुत अधिक महत्व दिया जाता है। जिससे आप ITI व Apprenticeship करके किसी दूसरे देश में अच्छा-खासा पैसा कमा सकते हैं।

  • आसान रोजगार
  • जल्दी जॉब सेटलमेंट
  • 3 साल की एक नियमित डिग्री का अध्ययन करने की आवश्यकता नहीं
  • आईटीआई पाठ्यक्रम 8 वीं, 10 वीं और 12 वीं कक्षा के बाद अध्ययन किया जा सकता है।

आईटीआई करने के बाद  जॉब में क्या भूमिका मिल सकती है

  • Fitter
  • Welder
  • Electrician
  • Teacher
  • mechanic
  • Machine operator

आशा है Friends की आपको हमारे द्वारा “ITI Course in Hindi” के बारे मे लिखा गया Blog पसंद आया होगा। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने Social Media Sites पर Share ज़रूर करें l

अगर आप भविष्य में ऐसी जानकारी लेना चाहते हैं तो आप हमारे ब्लॉक को सब्सक्राइब करें और साथ के साथ आप हमारे  इंस्टाग्राम पेज और  फेसबुक पेज को लाइक करें जिससे आपको हमारे आने वाली हर पोस्ट की अपडेट समय से मिलती रहे l

Related Queries : iti full form in hindi , iti ki full form hindi mai, iti meaning in hindi, iti full form hindi, iti in hindi, iti ka full form hindi mai, iti trade in hindi, what is iti in hindi, iti course details in hindi

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment