इन्द्रधनुष के 7 रंगों के नाम और उनकी विशेषता

आजके इस लेख में हम आपको इन्द्रधनुस के 7 रंगों के नाम बतायंगे और उनसे जुडी कुछ जानकारी देंगे इंद्र धनुष एक प्राकृतिक घटना है जो आकाश में प्रेक्षक को संकेन्द्रीय अर्द्ध चापो के रूप में तथा अलग अलग रंगों की पट्टियों के रूप में दिखाई देता है।

इंद्रधनुष प्रकाश के अपवर्तन , पूर्ण आंतरिक परावर्तन तथा वर्ण विक्षेपण की एक सम्मिलित घटना है। इन्द्र धनुष मुख्यतः दो प्रकार के होते है, प्राथमिक इंद्रधनुष, द्वितीयक इन्द्रधनुष इनके बारे में हम बिस्तर से किसी और लेख में जानगे .

Rainbow Colours Name in Hindi & English
इन्द्रधनुष के 7 रंगों के नाम

S. noColors PicturesRainbow Colors Name in EnglishRainBow Colors Name in Hindi
1.Red (रेड)लाल (Laal)
2.Orange (ऑरेंज)नारंगी (Narangi)
3.Yellow (येलो)पीला (Peela)
4.Green (ग्रीन)हरा (Hara)
5.Blue (ब्लू)नीला (Neela)
6.Indigo (इन्डिगो)आसमानी (Aasmani)
7.Violet (वायलेट)बैंगनी (Baingani)

 तो चलिए सभी रंगों के बारे में जान लेते है

1.

लाल रंग की विशेषता

इन्द्रधनुष के 7 रंगों में से लाल रंग सबसे पहला रंग है। लाल रंग ऊर्जा और उत्साह का रंग है और यह अग्नि का प्रतीक माना जाता है। दरअसल, लाल रंग के प्रकाश का मुढ़ाव बहुत ही कम होता है।

इसी कारण लाल रंग इंद्रधनुष में सबसे ऊपर दिखाई देता है। प्रकाश के सभी रंगों में लाल रंग सबसे अधिक उभरने वाला रंग होता है।

2 .

नारंगी रंग की विशेषता

नारंगी रंग सुबह-सुबह के सूरज का रंग हैं। जिस तरह सूरज सुबह-सुबह निकलकर हमें उजाला देता है, उसी तरह ये रंग आस और विश्वास का प्रतीक है। यह हमें सिखाता है कि अंधेरे के बाद रोशनी जरूर आती है।

3 .

पिला रंग की विशेषता

पीला चमकदार और सुंदर रंग है। यह सूर्य का रंग है, जो प्रतीक है जीवन और रोशनी का। यह रंग हंसमुख है। स्वच्छ और उज्जवल है। स्पष्टता और जागरूकता की शिक्षा देता है। यह ऊर्जा का प्रतीक है।

हिन्दू धर्म में पीले रंग की बहुत अधिक मान्यता है। भगवान विष्णु के पीले रंग के वस्त्र धारण करने के कारण ही उन्हें पीताम्बर भी कहा जाता है।

4 .

हरा रंग की विशेषता

हरा रंग हरियाली का प्रतीक माना जाता है। हरा रंग वसंत के आने यानी नए जीवन का सूचक होता है। घनी सर्दियों के बाद बाग-बगीचों, पेड़-पौधों पर फिर से एक बार हरियाली नजर आने लगती है। हरा रंग हमें सिखाता है कि हमें अपने जीवन को रोज एक नई उमंग, उत्साह और धैर्य के साथ जीना चाहिए।

5 .

नीला रंग की विशेषता

आसमान और सागर दोनों का रंग नीला होता है। नीला रंग ठंडा रंग माना जाता है। नीला रंग हमें शांत, भरोसेमंद, वफादार और अपने जीवन में स्थिरता लाने की शिक्षा देता है।

नीला रंग हमें सिखाता है कि हमें किसी भी परिस्थिति में अपना नियंत्रण नहीं खोना चाहिए और हर काम ठंडे दिमाग से करना चाहिए।

6 .

आसमानी रंग की विशेषता

इन्द्रधनुष में लाल, नारंगी, पीले, हरे तथा नीले रंग के बाद, छठे स्थान पर आसमानी रंग आता है। इंद्रधनुष का यह रंग जामुन के रंग का होता है। यह रंग, लाल और नीले रंग के बीच का रंग है।

7 .

बैंगनी रंग की विशेषता

बैंगनी रंग का नाम एक सब्जी बैंगन के नाम पर रखा गया है। इसे अंग्रेजी में वॉयलेट कहते हैं, जो इसी नाम के फूल से रखा है। वॉयलेट रंग, बैंगनी रंग का हल्का शेड होता है।

बैंगनी रंग रॉयलिटी, लग्जरी और वेल्थ का रंग हैं। ये रंग लाल और नीले रंग के मेल से बनता है।

कैसे बनता है इंद्रधनुष

बरसात के मौसम में जब पानी की बूंदें सूर्य की किरणों पर पड़ती हैं, तब सूर्य की किरणों का विक्षेपण ही इंद्रधनुष के सुंदर रंगों का कारण बनता है। आसमान में शाम के समय पूर्व दिशा में और सुबह पश्चिम दिशा में, बारिश के बाद लाल, नीला, पीला, हरा, आसमानी, नीला और बैंगनी रंगों का वृत्ताकार चक्र जैसा कभी-कभी दिखाई देता है। ये ही सप्तरंगी इंद्रधनुष है।

ये भी पढ़े :

Rate Now

Leave a Comment