प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana

प्रधानमंत्री राशन सब्सिडी योजना

वित्त मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 22 अप्रैल तक 33 करोड़ से अधिक लोगों के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की गई है। प्रधान मंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत राशन कार्ड वितरण कार्य शुरू हुआ ।

योजना के तहत मॉडल हाउस क्षेत्र के परिवारों को 250 से अधिक राशन कार्ड प्रदान किए गए हैं। 26 मार्च को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण योजना पर 1.7 लाख करोड की पेशकश की।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य कोरोनोवायरस प्रकोप के कारण हुए आर्थिक व्यवधानों से लड़ने के लिए एक सेक्टर किसानों और गरीब  को संगठित करना है।

सभी उम्मीदवार जो आवेदन करने के इच्छुक हैं वे आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से अपनी आधिकारिक अधिसूचना डाउनलोड कर सकते हैं। इसके साथ ही  हम प्रधान मंत्री गरीब कल्याण योजना 2020 के बारे में कुछ जानकारी प्रदान करेंगे, जैसे कि कुछ लाभ , योजना की स्थिति और योग्यता,  सुविधाएँ आदि।

गृह मंत्रालय ने सबसे गरीब लोगों की मदद के लिए इस योजना के तहत 1.7 लाख करोड़ के राहत पैकेज की घोषणा की है। इस योजना के तहत सरकार ने किसानों के लिए दोपहर किसान योजना जैसी योजनाएं शुरू की हैं, दो हजार(2,000) पहली अप्रैल में भेजी जाएंगी। राशन कार्ड धारकों के लिए- 80 करोड़ लोगों को 5 केजी का संस्करण मुफ्त मिलेगा।

डॉक्टरों नर्सों और मेडिकल स्टाफ जैसे कोरोनवायरस  योधाओं के लिए बीमा के 50 लाख रुपये मिलेंगे। नागरिकों के लिए, विधवाओं के लिए ,वरिष्ठ नागरिकों केलिए  तीन महीने के लिए प्रति माह हजार रुपये जारी किए जाएंगे।

अगले 3 महीनों के लिए सामान्य aayojana गैस सिलेंडर मुफ्त में प्रदान किया जाएगा। निर्माण श्रमिकों के लिए अतिरिक्त 10 लाख रुपये जमानत ऋण  के दौरान 31,000 करोड़ रुपये जारी किए जाएंगे।

योजना का विवरण PMGKY 2020

इस योजना के अंतर्गत 26 मार्च 2020 से 30 जून 2020 तक कोरोनावायरस लॉकडाउन के चलते प्रतिमाह 80 करोड़ गरीबों को मुफ्त में 5 किलो राशन (चावल या फिर गेहूं) तथा 1 किलो दाल प्रदान्न की जा रही थी। अब इस योजना को बढ़ाकर 30 नवंबर तक कर दिया गया है।

योजना का नामप्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना
द्वारा लॉन्च किया गयाभारत सरकार
लाभार्थीभारत के नागरिक
योजना का उद्देश्यजरूरतमंद लोगों को मदद करना
प्रमुख लाभव्यक्तियों को पैसे जमा करना
ऑनलाइन आवेदन करने की प्रारंभिक तिथि26 March 2020
सरकारी वेबसाइटwww.pib.nic.in

प्रधानमन्त्री गरीब कल्याण अन्न योजना

योजना के तहत सभी राशन कार्ड धारकों को 3 महीने के लिए दो गुना राशन दिया जाएगा। यह अतिरिक्त लाभ बिल्कुल मुफ्त में  दिया जाएगा। हर महीने स्रोतों के अनुसार 5 किलोग्राम गेहूं 5 किलोग्राम धान और 1 किलोग्राम दाल दी जाएगी।

योजना के लाभ

राशन कार्ड धारक5 किलो राशन मुफ्त में मिलेगा
कोरोनोवायरस वॉरियर्स जैसे डॉक्टर नर्स और स्टाफ50 लाख का बीमा
किसान जो कि किसान योजना में पंजीकृत है2000/- अप्रोल कि पहली हफ्ता तक
जनधन योजना500 / – अगले 3 महीनों के लिए
विधवा, गरीब नागरिक विकलांग, वरिष्ठ नागरिकअगले 3 महीनों में 1,000 / -रु
उज्ज्वला योजनाअगले 3 महीनों के लिए गैस सिलेंडर मुफ्त
स्वयं सहायता समूहअतिरिक्त 10 लाख संपार्श्विक ऋण
निर्माण श्रमिकों के लिए31 हजार करोड़ का फंड जारी
ईपीएफसरकार को अगले 3 महीनों के लिए 24% का भुगतान किया जाएगा।

योजना की मुख्य विशेषताएं

डेबिट के माध्यम से नकद हस्तांतरण सरकार द्वारा घरेलू महिलाओं को प्रदान किया जाएगा।

  • योजना के तहत 80 करोड़ से अधिक लोगों को 5 किलो ग्राम चावल प्रदान किया गया।
  • इस योजना के तहत गरीबों को रोजगार के अवसर प्रदान करने पर 50 हजार करोड़ खर्च किए गए हैं।
  • इस योजना के विस्तार पर सरकार को 90,000 करोड़ रुपये अतिरिक्त खर्च होंगे।
  • यदि पिछले तीन महीनों में योजना के लिए खर्च की गई राशि को एक साथ जोड़ा गया है, तो कुल5 लाख करोड की राशि नवंबर के लिए योजना की ओर खर्च की जाएगी।
  • सफाई कर्मचारियों को आशा कार्यकर्ताओं, पैरामेडिक्स तकनीशियनों, डॉक्टरों और विशेषज्ञों और सहयोगी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को 50 लाख रुपये का कवर प्रदान किया जाएगा।
  • करोड़ से अधिक लोग जो दो तिहाई आबादी हैं, प्रधान मंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत कवर किए जाएंगे।
  • प्रत्येक पात्र सदस्यों को योजना के तहत उनके वर्तमान अधिकार के दोगुने के साथ प्रदान किया जाएगा, यह अतिरिक्त लागत से मुक्त होगा।
  • लॉन्च के समय यह घोषणा की गई थी कि 2020 से 2021 तक किसानों की 2,000 रुपये की पहली किस्त होगी।
  • महिलाओं को प्रति माह 500 रुपये की कुल अनुग्रह राशि दी जाती है।
  • व्यवसाय में प्रतिमाह 15,000 रुपये से कम वेतन पाने वालों को सौ से कम श्रमिकों को मासिक वेतन का 24% उनके पीएफ खातों में दिया जाएगा।
  • कर्मचारी भविष्य निधि नियमों में संशोधन किया जाएगा, जिसमें महामारी को शामिल किया जा सकेगा और उनके खातों से 75% राशि की गैर वापसीयोग्य अग्रिम राशि दिया जाएगा।

योजना के लिए आवेदन कैसे करें ?

  • प्रक्रिया को सरल रखा गया है। सभी आवेदक को भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा अधिकृत किसी भी बैंक में एक जनधन खाता खोलना होगा।
  • आवेदक आय दस्तावेजों को प्रस्तुत करता है जिनकी जांच की जाएगी।
  • उस आपूर्ति किए गए दस्तावेजों की जांच के बाद यदि आवेदक योग्य है तो उन्हें योजना का लाभ प्राप्त होगा।

आवश्यक दस्तावेज़

इस योजना को लागू करने के लिए प्रत्येक आवेदक के लिए आवश्यक दस्तावेज हैं। कुछ अन्य दस्तावेजों की भी आवश्यकता हो सकती है।लेकिन ये जरूरी हैं।

  • आधार कार्ड
  • राशन पत्रिका
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आय प्रमाण पत्र
  • पैन कार्ड

योजना की पात्रता

  • गरीबी रेखा से नीचे वाले परिवार योजना के लिए पात्र होंगे ।
  • विधवा, विकलांग, वृद्ध जैसे व्यक्ति इस योजना के लिए पात्र हैं।
  • सभी आदिम जनजातीय घराने भी पात्र हैं।
  • गरीबी रेखा से नीचे के एचआईवी पॉजिटिव व्यक्तियों के परिवार भी पात्र हैं।
  • सरकारी नौकरी वाले व्यक्ति इसके लिए पात्र नहीं हैं।
  • आवेदक को उच्च आय नहीं मिलनी चाहिए।

केंद्र सरकार की और योजनाये 

योजना के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

1Q : बीमा पॉलिसी कितने समय के लिए वैध है ?

Ans : 30 मार्च 2020 से शुरू होने वाली बीमा पॉलिसी 90 दिनों के लिए वैध है।

2Q : क्या व्यक्तियों को योजना में नामांकित करने की आवश्यकता है ?

Ans : किसी भी व्यक्ति को योजना में नामांकित करने की आवश्यकता नहीं है।

3Q : स्वास्थ्य कर्मियों के मामले में आयु सीमा क्या है ?

Ans : इस योजना के तहत कोई आयु सीमा नहीं है।

4Q : Quarantine समय या उपचार खर्च योजना के तहत कवर किया जाएगा ?

Ans : नहीं।संगरोध(quarantine) के कारण होने वाले खर्च को इस योजना के अंतर्गत शामिल नहीं किया गया है।

5Q : अगर हम लॉकडाउन में भी सैलरी लेते हैं तो क्या हम लाभ उठा सकते हैं ?

Ans : नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *