B.Pharma Course Details – Eligibility, Fee, Duration, Colleges, Salary, Full Form

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

प्रत्येक छात्र अलग-अलग  क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं । पर बहुत बार उन्हें नहीं समझ मे आता हैं कि वो 10वी और 12वी के बाद क्या करना चाहिए।

यदि आप मेडिकल के क्षेत्र में रुचि रखते हैं तो आपके लिए Pharmacy  एक अच्छा  विकल्प है । Pharmacy में मुख्यतः दो कोर्स होते हैं – B.Pharma और  D.Pharma l 

लेकिन किसी भी क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिये उस क्षेत्र के बारे में सम्पूर्ण जानकारी ले लेनी चाहिए। आज हम आपको अपने इस पोस्ट में  B.Pharma के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देंगे।

About B. Pharma 

Pharmacy का सीधा संबंध दवाई, औषधि ,मेडिसिन तथा ड्रग से है । Pharmacy में दवा बनाने की विधि, किस रोग में कौन मेडिसिन है , ड्रग/ औषधि बनाने के तरीके , दवा की मात्रा, कौन सी दवा साथ ले कौन सी साथ न लें,दवा हमारे शरीर के अंदर किस प्रकार से कार्य करती है ये सब हम फॉर्मेसी के अंतर्गत अध्ययन करते है

Full Form of  B. Pharma = Bachelor of Pharmacy
B.Pharma Full Form in Hindi = बैचलर ऑफ़ फार्मेसी (बी फार्मा)

B. Pharma Course Details

B Pharmacy का Full From Bachelor of Pharmacy है। यह एक स्नातक डिग्री है । यह 4 साल का कोर्स होता है जिसमे 8 सेमेस्टर होते है हर सेमेस्टर में छात्र को एक Theoretical External Examination देना जरूरी होता है जिसे मेन एग्जाम कहते है।

कुछ Semesters में Practical Exam भी होते है।

Eligibility Criteria For B.Pharma

  • Science Stream का कोई भी छात्र जिसने PCM या PCB से 12वी बोर्ड की परीक्षा 55%  से  उत्तीर्ण की हो इस कोर्स को करने के लिए Eligible होता है ।
  • बहुत से कालेज ऐसे है जो कि PCB वाले छात्रों को ही प्राथमिकता देते है।
  • छात्रों को वर्ष के 31 दिसंबर को या उससे पहले 17 वर्ष की आयु पूरी करनी चाहिए l 
  • गैर-औपचारिक आधारित स्कूली शिक्षा जैसे एनआईओएस (NIOS) और राज्य आधारित ओपन स्कूलिंग से 10 + 2 योग्यता रखने वाले छात्र बी फार्मेसी कोर्स के लिए पात्र नहीं हैं।

Admission process in B- Pharma

बहुत से कॉलेजो मे इस कोर्स के लिए Entrance Exam (MET, BITSAT, NIPER JEE, KCET etc) देना होता है । PU-CET 2020 – Punjab University ,Chandigarh में बहुत से Undergraduate Course के एन्ट्रेंस एग्जाम होते  है । जिसमे B.Pharma में भी admission ले सकते है ऐसे ही कुछ कॉलेज है जो कि Under Graduate Course कराते हैं

कुछ कॉलेज जैसे Amity University में एडमिशन 12वी के नम्बर के आधार पर भी होता है । इसके बाद छात्र को इंटरव्यू देना होता है ।

कुछ कॉलेज में एडमिशन मेरिट लिस्ट के आधार पर भी होता है। जिन छात्रों ने D.Pharma किया है उनकी एंट्री B.Pharma के 2nd Year में डायरेक्ट एड्मिसन होता है । तब यह कोर्स सिर्फ 3 साल का रह जाता  है।

B. Pharma Course Fee

B.Pharma की कोर्स फीस की बात करे तो यह ₹15000 – ₹1,25,000 तक हो सकती है और यह Pharmacy के कॉलेज पर भी निर्भर करती है कि आप किस कॉलेज से Pharmacy कर रहे है।

B.Pharma Syllabus

First Year:

Pharmaceutical Analysis 1Pharmaceutical ChemistryAdvanced Mathematics
Computer ApplicationsBiologyAnatomy & Physiology
Organic ChemistryPharmacognosy 1Basic Electronics

Second Year:

Pharmacognosy 2Pharmaceutical Chemistry 2Pharmaceutics
Pharmaceutical Analysis 2AP HE-1Organic Chemistry 2
Pharmacognosy 3AP HE- 2Dispensing & Community Pharmacy

Third Year:

BiochemistryPharmacology 2Medicinal Chemistry 1
Pharmaceutical Jurisprudence EthicsChemistry of Natural ProductsMedicinal Chemistry 2
Pharmacology 1Hospital PharmacyBiopharmaceutics

Fourth Year:

Pharmaceutical BiotechnologyPharmaceuticsMedicinal Chemistry 3
ElectivesClinical PharmacyChemistry of Natural Products
Projected Related to ElectivePharmacognosyDrug Interactions

Top 5 Govt College  in India

  1. National institute of pharmaceutical education  and research SAS Nagar
  2. Punjab University Chandigarh
  3. Institute of Chemical Technology , Mumbai
  4. National institute of pharmaceutical education  and research Hydrabad
  5. Annamalai University , Anna malai Nagar

Top 5 Private College in India

  1. Jamia Hamdard , New Delhi
  2. Birla Institute Of Technology and science , Pilani
  3. JSS College of Pharmacy , Ooty
  4. Manipal college of pharmaceutical science , Manipal
  5. JSS College of Pharmacy , Mysore

Carrier Option 

B.Pharma के बाद आप Govt. और Private दोनो सेक्टर में नौकरी कर सकते है।

  • GOVT सेक्टर में जॉब के लिए आपको UPSC, SSC , Drug Inspecter, या फिर Govt Hospital में Pharmacist के तरह काम कर सकते है ।
  • Private sector में आप किसी दवा बनाने वाली कंपनी में नौकरी कर सकते हैं
  • अपना खुद का मेडिकल स्टोर खोल सकते है
  • किसी भी तरह के हेल्थ सेंटर में कार्य कर सकते है
  • मेडिसिन रिसर्च सेंटर में कार्य कर सकते है
  • या फिर आप किसी भी कॉलेज में फार्मासिस्ट के रूप में कार्यरत हो सकते है। 

    or

  • Teacher (Junior Lecturer)
  • Quality Control Officer
  • Clinical Research professional
  • Drug Inspector
  • Marketing professional
  • Chemist
  • Drug control administration
  • Educational institutions
  • Food and drug administration
  • Health centers
  • Hospitals

Job Position

  •    Drug Therapist
  •    Drug Inspector
  •    Hospital Drug Coordinator
  •    Health Inspector
  •    Pharmacist
  •    Pathological Lab
  •    Medical Transcriptionist
  •    Regulatory manager
  •    Researcher

Other Courses After B.Pharma

B-Pharma के बाद  एमफार्मा, एमफार्मा इन फार्मेकॉलजी, क्लिनिकल रिसर्च, क्वॉलिटी एश्योरेंस, फार्मासूटिकल केमिस्ट्री, मास्टर इन पब्लिक हेल्थ, हॉस्पिटल मैनेजमेंट, एमबीए फार्मेसी सेक्टर में आगे बढ़ सकते है ।

Other Courses 

आशा है Friends की आपको हमारे द्वारा “B.Pharma Course” के बारे मे लिखा गया Blog पसंद आया होगा। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने Social Media Sites पर Share ज़रूर करें l

अगर आप भविष्य में ऐसी जानकारी लेना चाहते हैं तो आप हमारे ब्लॉक को सब्सक्राइब करें और साथ के साथ आप हमारे  इंस्टाग्राम पेज और  फेसबुक पेज को लाइक करें जिससे आपको हमारे आने वाली हर पोस्ट की अपडेट समय से मिलती रहे l

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment