पीएचडी क्या है ? पीएचडी करने के लिए क्या करना पड़ता है ?

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हाय दोस्तों आज हम बात करेंगे PhD डिग्री के बारे में, आखिर PhD डिग्री क्या होती है ? यह डिग्री किस क्षेत्र में दी जाती है ? और इस डिग्री कि क्या-क्या विशेषताएँ हैं ? तथा Ph.D किस प्रकार की जा सकती है ?

यदि आप PhD की पूरी जानकारी चाहते हैं तो हमारे इस Blog को अंत तक अवश्य पढ़ें।

पीएचडी क्या है : WHAT IS PhD 

Table of Contents

 

PhD कई देशों में युनिवर्सिटीज द्वारा दी जाने वाली सबसे बड़ी Academic Degree है। PhD करने में कम-से-कम 3 वर्ष का समय लगता है। PhD करने के बाद आपके नाम के आगे Dr.(Doctor) Prefix जोड़ दिया जाता है। PhD एक Research level की पढ़ाई है

जिसमें किसी एक Particular Topic पर Research करना होता है। Research से प्राप्त हुए परिणामों पर अपना खुद का शोध पत्र तैयार करना होता है। यदि आपका शोध कामयाब रहता है तब आपको उस शोध के लिए PhD Degree प्रदान कर दिया जाता है।

PHD Full Form Or PHD Ka Full Form 

PHD Full Form
Doctor of Philosophy

PHD Full Form in Hindi

PHD Full Form in Hindi
डॉक्टर ऑफ़ फिलोसोफी

पीएचडी करने के लिए जरूरी योग्यताएं क्या हैं : WHAT ARE ELIGIBILITY CRITERIA FOR PhD 

PhD करने के लिए जरूरी योग्यताएं निम्न प्रकार से हैं

10+12

यदि आप किसी भी प्रकार की उच्च शिक्षा ग्रहण करना चाहते हैं तो 10th या 11th में अपनी रूचि के अनुसार कोई भी Stream Choose करने के बाद पूरी लगन से पढ़ाई करें और 10th+12th बोर्ड Examination अच्छे Percentage लेकर पूरा करें।

यदि आप Graduation हेतू अपने मनचाही College में Admission लेना चाहते हैं तो इसमें आपके 12th Board के Percentage बहुत मायने रखते हैं। इसलिए बोर्ड की परीक्षाएं अच्छे से अच्छा Marks लाकर Pass करें।

Bachelor Degree

10+12 करने के बाद आप अपने Stream के हिसाब से कोई एक कोर्स चुनकर Bachelor Degree (Graduation) प्राप्त कर लें। ध्यान रहे यदि आपका सपना PhD तक जाने का है तो आप हमेशा से ही अच्छे Marks लाने की कोशिश करें और जो भी कर रहे हैं उसे अपनी पूरी Dedication से करें।

Masters Degree

किसी भी Subject में Bachelor Degree लेने के बाद आप आगे पढ़ाई जारी रखते हुए उसी Field में Masters Degree (Post Graduation) प्राप्त करें। इसमें इस बात का ध्यान रखें कि आपको Masters Degree में Minimum 55% लाना होता हैं तभी आप UGC NET Exam में बैठ सकते हैं।

Clear UGC NET Exam

PhD करने वालों के लिए UGC NET Exam Clear करना Compulsory होता है। पहले यह Exam Clear करना जरूरी नहीं था पर अब कर दिया गया है।

इसके अलावा आप RET (Research Examination Test) भी दे सकते हैं। इसका फायदा यह होगा कि आपको यूनिवर्सिटी के स्तर पर लिया जाने वाला Entrance Exam नहीं देना पड़ेगा।

Universities जो कि किसी भी Field में PhD कराती हैं वे सभी अपने-अपने स्तर पर एक Entrance Exam करवातीं है। इस कारण PhD में प्रवेश लेने के लिए आपको इस Entrance Exam को Clear करना होता है।

पीएचडी के विषय  : Phd Subjects in india 

अगर आप पीएचडी करने की सोच रहे है तो पुरे india में Total 1590 Colleges है जिनसे आप पीएचडी कर सकते है जिसमे आपको Total  255 Subjects मिल जायेंगे जिस शेत्र में आपकी रूचि है आप उस शेत्र से पीएचडी कर सकते है चलिए हम कुछ Phd Subjects List Share करते है

 

SCIENCE

PH.D. (CHEMISTRY)
PH.D. (PHYSICS)
PH.D. (MATHEMATICS)
PH.D. (BIOTECHNOLOGY)
 

ARTS

PH.D (ENGLISH)
PH.D (ECONOMICS)
M.PHIL (ENGLISH)
PH.D (HINDI)
 

MEDICAL

PH.D (MEDICINE)
PH.D (PATHOLOGY)
PH.D (PHYSIOLOGY)
PH.D (PSYCHIATRY)
 

ENGINEERING

PH.D (MECHANICAL ENGINEERING)
PH.D (COMPUTER SCIENCE AND ENGINEERING)
PH.D (CIVIL ENGINEERING)
PH.D ELECTRONICS AND COMMUNICATIONS ENGINEERING

MANAGEMENT

PH.D (MANAGEMENT STUDIES)
PH.D (BUSINESS ADMINISTRATION)
PH.D (MARKETING)
PH.D (FINANCE)

पीएचडी कैसे करें : HOW TO DO PhD 

PhD कराने वाली सभी यूनिवर्सिटी प्रत्येक वर्ष Admission के लिए vacancy निकालती हैं। जिसकी जानकारी आप संस्थान स्तर पर या उसकी Official Website से प्राप्त कर सकते हैं तथा Admission हेतू Apply कर सकते हैं।

Entrance Exam Clear करने के बाद आपका Interview लिया जाता है। इस Interview में सबसे पहले आपको अपना Research Perposal जमा करना होगा जिसमें आपको बताना पड़ेगा कि आप किस क्षेत्र में शोध करना चाहते हैं ?

इस विषय में शोध क्यों करना चाहते हैं ? इस शोध को करने के क्या Importance है ? आदि। तथा आपके Research Perposal के अनुसार और भी कई कठिन सवाल जवाब किए जाते हैं।

Interview होने के बाद अगर आप उसमें Pass हो जाते हैं तो आपको PhD के लिए प्रवेश दे दिया जाता है।

EXAMINATION PATTERN

Interview में पास होने के बाद अब आपको अपने Field के अनुसार Course Work तैयार करना पड़ता है। इसके लिए संस्थान में बहुत सारे विशेषज्ञ अपने Sessions रखते हैं। आप अपने Research के लिए Guide भी ले सकते हैं। बस इस बात का ध्यान रखें कि आपमें और आपके Guide में सही तालमेल रहे।

इसमें कुल छह Written Exam लिए जाते हैं तथा प्रत्येक छह माह के अंत में आपको अपना Research Report जमा करना होता है। PhD के अंतिम वर्ष में आप जिस विषय पर शोध कर रहे हैं उसका शोध पत्र तैयार करना है तथा अंत में शोध पत्र जमा होने के बाद आपका Viva लिया जाता है।

जिसमें आपके शोध से संबंधित बहुत ही तीखे सवाल जवाब किए जाते हैं। यदि आप उन सभी सवालों को Defend करने में कामयाब रहते हैं तो आपको पास कर दिया जाता है। इस प्रकार आपकी PhD पूर्ण होती है।

पीएचडी करने के फायदे : BENEFITS OF DOING PhD 

PhD करना बहुत सम्मान की बात है। चूंकि PhD किसी एक विशेष विषय पर शोध किया जाता है इस कारण PhD करने वाला शख्स उस Field का विशेषज्ञ बन जाता है।

PhD करने के कुछ प्रमुख फायदे निम्न हैं:-

  • Ph.D करने वाला शख्स University या College में प्रोफेसर अथवा लेक्चरर पद के लिए Apply कर सकता है।
  • Ph.D करने वाला शख्स जिस विषय पर शोध करता है वह उस शोध का Information Creator कहलाता है।
  • Ph.D करने के बाद आपके नाम के साथ Dr. Prefix जूड़ जाता है।
  • यदि आपका शोध पूरा हो जाता है तो आप अपने शोध पर Book भी प्रकाशित कर सकते हैं।
  • Ph.D मिलने के बाद आप उस Field में आगे भी Research & Analysis कर सकते हैं।

भारत की सबसे बेस्ट पीएचडी युनिवर्सिटीज : List of Top 10 PhD Universities in India 

 

निचे कुछ factors  है जिन्हें ध्यान में रखते हुये इन सभी Universities को Ranking दी गई है

Academic Reputation 

 Employer Reputation

Faculty/Student Ratio 

 Number of Faculty with a PhD 

Research Papers Per Faculty

Research Citations Per Faculty

Number of International Faculty

 Number of International Students 

1. India Institute of Engineering (Bombay)
2. India Institute of Engineering (Bangrole)
3. India Institute of Engineering (Madras)
4. India Institute of Engineering (Delhi)
5. India Institute of Engineering (kharagpur)
6. India Institute of Engineering (kanpur)
7. University of Hyderabad
8. University of delhi
9. India Institute of Engineering (Roorkee)
10. India Institute of Engineering (Guwahati)


FAQs – Frequently asked Questions

Q1. मुझे P.H.d के लिए प्रवेश कैसे मिल सकता है ?

पीएचडी में दाखिले के लिए सबसे पहले आपके पास किसी भी विषय में Master’s Degree होनी चाहिए। अगर आपके पास Master’s Degree है तब आप Ph.D के लिए Apply कर सकते हैं। Apply करने के बाद University द्वारा कटआॅफ जारी की जाती है जिसमें सफल होने के बाद आपको University की Entrance Exam Clear करनी है यदि आपने NET Clear किया है तो Entrance Exam नहीं देना पड़ेगा। इसके बाद आपको अपना Research Perposal तैयार करना है फिर आपका Interwiew लिया जाएगा तथा Interwiew Clear करने के बाद आपको पीएचडी में दाखिला मिल जाएगा

Q2. पीएचडी कोर्स में प्रवेश कैसे लें।

अगर आपके पास Master’s Degree है और आपने NET Exam Clear किया है तो आप पीएचडी के लिए Online Registration करवा सकते हैं।

Q3. क्या पीएचडी प्रवेश कार्यक्रम वर्ष में दो बार होता है ?

Yes, आप Ph.D में Addmission के लिए Online Registration करवा सकते हैं जो कि साल में दो बार जुलाई व नवंबर में आयोजित की जाती हैं।

Q4. अंग्रेजी में पीएचडी की अवधि क्या है ?

Ph.D In English Complete करने में 3-5 वर्ष का समय लगता है।

Q5. पीएचडी डिग्री का Full Form क्या है ?

Ph.D Degree का Full Form, Doctor Of Philosophy है।

Q6. पीएचडी को पूरा करने में कितने साल लगते हैं ?

वैसे देखा जाए तो साधारणतया पीएचडी Complete होने में Minimum 3 वर्ष का समय लगता है तथा आप पीएचडी Maximum 5 से 6 साल में भी Complete कर सकते हैं।

Q7. आपको पीएचडी के साथ क्या शीर्षक मिलता है ?

जब आप किसी भी Subject या Field में Ph.D Complete कर लेते तब आपके नाम के आगे डॉक्टर/Dr. Prefix (उपाधि/उपनाम) जुड़ जाता है।

Q8. क्या मैं एक अलग विषय में पीएचडी कर सकता हूं ?

Yes, यदि आपने Bachelor’s Degree एवं Master’s Degree किसी दूसरे विषय से किया तथा आप अपना पीएचडी रिसर्च किसी दूसरे विषय या क्षेत्र में करना चाहते हैं तो आप ऐसा भी कर सकते हैं, इसके लिए कोई बाध्यता नहीं है।

Q9. पीएचडी पाने के लिए आपको क्या करना होगा ?

पीएचडी डिग्री प्राप्त करने के लिए आपको कुल मिलाकर 6 Written Exam देने होंगे, पीएचडी के दौरान प्रत्येक 6 माह के अंतराल पर अपनी रिसर्च रिपोर्ट जमा करनी होगी तथा अंत में आपने जो Research (शोध) किया है उसका शोध पत्र जमा करने के बाद आपका Viva लिया जाएगा जिसमें आपके शोध-पत्र से संबंधित सवाल-जवाब किया जाता है। यदि आप इसमें पास हो जाते हैं तो आपको पीएचडी डिग्री प्राप्त हो जाती है।

Q10. पीएचडी करना कितना मुश्किल है ?

पीएचडी डिग्री प्राप्त करना बहुत मुश्किल काम है क्योंकि यह एक Top Level की डिग्री है जिसमें आपको स्वयं रिसर्च वर्क करना पड़ता है तथा उस रिसर्च पर शोध पत्र भी तैयार करना पड़ता है।

PHD – Doctor of Philosophy

 

MORE FULL FORMS

आशा है Friends की आपको हमारे द्वारा PhD के बारे मे लिखा गया Blog पसंद आया होगा। यदि हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो

तो आप इसे अपने Friends व Social Media Sites पर Share ज़रूर करें और यदि आपके मन में PhD से संबंधित कोई सवाल उठ रहा है तो आप Comment करके पूछ सकते हैं तथा भविष्य में ऐसी ही रोचक जानकारियों के लिए हमारे Blog को follow कर सकते हैं, धन्यवाद।

Leave a Comment