FOMO क्या होता है ? इससे निजात कैसे पाया जा सकता है

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

INTRODUCTION

दोस्तों आज मैं आपको, FOMO क्या होता है ? यह क्यों होता है ? इसके लक्षण क्या होते हैं ? इससे निजात कैसे पाया जा सकता है ? तथा इसके दुष्प्रभाव क्या हैं ? इत्यादि के बारे में बताने वाला हूं। दोस्तों आपसे अनुरोध है, FOMO से संबंधित पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए यह Blog शुरू से लेकर अंत तक अवश्य पढ़े।

FOMO Full Form / Meaning of FOMO

FOMO FULL FORM
Fear Of Missing Out

FOMO क्या होता है ?

FOMO चिंता की एक ऐसी भावना है, जिसके परिणामस्वरूप आप यह महसूस करते हैं कि आपने किसी जरूरी/मजेदार चीज को Miss कर दिया है। उदाहरण के लिए, आपको और आपके दोस्तों को एक Party के लिए आमंत्रण मिलता है और आप उस Party में जाने के बजाए Study करने का निर्णय लेते हैं और इस कारण Party को Miss कर देते हैं

लेकिन बाद में आपके दोस्तों ने Social Media साइट्स पर उस Party में किए मौज की Photos व Videos डालते हैं और उनको देखने के बाद आपका ध्यान पढ़ाई से हट जाता है, आप सोचते हैं कि मुझे भी वहां मौजूद होना चाहिए था। यह सोच-सोच कर अफसोस करते हैं कि “मैंने एक मजेदार अवसर गंवा दिया” इस कारण न आपने Study की और न ही Party Enjoy की और तनावग्रस्त हो जाते हैं तथा इस प्रकार आपको अहसास भी नहीं होता,कि आप FOMO के शिकार हो चुके हैं।

FOMO का कोई निश्चित प्रकार नहीं है, अतः किसी को किसी भी तरह का FOMO हो सकता है। उदाहरण के तौर पर किसी को अपने Lifestyle का FOMO हो सकता है कि दूसरों के पास ऐसी चीजें हैं जो मेरे पास नही हैं। किसी को अपने Work का FOMO हो सकता है कि मुझे यह काम इस तरह करना चाहिए था, यह नहीं करना चाहिए था, इसकी जगह ये कर सकता था, वगैरह-वगैरह।

इन्हीं सब चीजों को सोशल मीडिया ने एक वृहत माध्यम प्रदान किया है, क्योंकि सोशल नेटवर्किंग के जरिए हम आसानी से अपने जीवन की तुलना दूसरों से कर सकते हैं।

FOMO की भावना हमारे लिए फायदेमंद व महत्त्वपूर्ण भी है क्योंकि यह हमें सदैव जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती है। उदाहरण के लिए जब हम किसी ऐसे व्यक्ति को देखते हैं जो हर मामले में हमसे बेहतर है तो फिर हम भी बेहतर बनने की कोशिश करते हैं।

जब आप यह समझ जाते हैं कि FOMO क्या होता है तब यह आपके लिए नुकसानदायक नहीं होता। इस कारण अमेरिका और चीन जैसे विकसित देश अपने युवाओं को FOMO से पार पाने के लिए Consultant Centers भी खोल रखे हैं।

FOMO के दुष्प्रभाव ?

FOMO Full Form

FOMO इन दिनों तेजी से सामान्य हो रहा है और वर्तमान में Smartphones और Social Media Sites का उपयोग करने वाले लगभग आधे युवा किसी न किसी प्रकार के FOMO से पीड़ित हैं जिसके कारण वे तनावग्रस्त, चिड़चिड़े और अकेले होते जा रहे हैं। आजकल इंस्टाग्राम और फेसबुक जैसी सोशल मीडिया साइटों के अनियमित उपयोग ने FOMO से पीड़ित होने की संभावनाओं को बहुत अधिक बढ़ा दिया है।

FOMO के दुष्प्रभावों को निम्न प्रकार से समझा जा सकता है:-

  • इससे पीड़ित व्यक्ति अपने आपको दूसरों से अलग-थलग व कमतर महसूस करता है। वे सोचते हैं कि दूसरा व्यक्ति उनसे अधिक खुश और उसकी जीवनशैली उनसे बेहतर है।
  • ऐसे लोग अपने Smartphones से ज्यादा देर तक दूर नहीं रह पाते और बार-बार सोशल मीडिया साइट्स को चेक करते रहते हैं। Smartphone से दूर होने पर भी उनका ध्यान बार-बार उसी पर जाता रहता है।
  • जब इंस्टाग्राम और फेसबुक पर डाले पोस्ट पर Likes व Comments नहीं आते तो दुःखी हो जाते हैं यानी वो Real Life के दोस्तों, रिश्तेदारों एवं परिवार वालों से बात करने या उनके साथ समय बिताने के बजाए Virtual Life को ज्यादा महत्व देते हैं।

FOMO से निजात कैसे पाया जाए ?

प्राचीन अभिलेखों में पाए गए सबूतों के आधार पर यह माना जाता है कि मानव सदियों से FOMO से पीड़ित रहा है, लेकिन आज के जमाने में सोशल मीडिया के आगमन तथा लोगों द्वारा व्यापक रूप से इंटरनेट, Social Networks और मोबाइल उपकरणों को अपनाने एवं इनके अत्यधिक उपयोग ने FOMO को युवाओं के बीच एक Common व भयानक Anxiety बना दिया है।

यदि आप FOMO से निजात पाना चाहते हैं तो आप ऐसा कदापि नहीं कर सकते हैं! क्योंकि यह मानवों की एक स्वभाविक प्रतिक्रिया है जो कि आपको बेहतर बनाने के लिए आवश्यक है, लेकिन आप Fear Of Missing Out की भावना को सकारात्मक (Positive) एवं सीमित (Reduce) कर सकते हैं।

FOMO की भावना को निम्न प्रकार से सकारात्मक बनाया जा सकता है:-

  • यदि आप किसी भी चीज से संबंधित कोई निर्णय लेते हैं तो उसपर कायम रहने की कोशिश करें और यदि किसी कारणवश आपका निर्णय ठीक नहीं होता तो आप उसे लेकर बहुत अधिक Regret भी न करें अर्थात् उसे अधिक महत्व न दे, जो हो गया सो हो गया।
  • यदि आप Smartphone तथा Social Media से संबंधित FOMO से पीड़ित हैं तो इनसे जितना हो सके दूर रहने की कोशिश करें और अपने साथियों एवं परिवार वालों से बात करें, उनके साथ समय व्यतीत करें।
  • Life में हर एक चीज को आवश्यकतानुसार महत्व दें। किसी एक चीज़ को बहुत अधिक और किसी को बहुत कम महत्व देने से बचें।
  • आप यह स्वीकार कर लें कि आपके पास प्रत्येक चीज नहीं हो सकती, आप हर जगह मौजूद नहीं हो सकते और आपके द्वारा लिए गए निर्णय सदैव उचित नहीं हो सकता इत्यादि।

More articles

Fear Of Missing Out

 
सोशल मीडिया ने लोगों को एक निश्चित कारण के बजाए अनेक तरीकों से Fear Of Missing Out की भावना से पीड़ित किया है, जैसे कि यह एक ऐसी स्थिति उत्पन्न करता है जहां एक व्यक्ति अपने साधारण जीवन की तुलना किसी दूसरे के विलासितापूर्ण जीवन से करता है, इसलिए FOMO से सावधान रहें तथा इसे अपने ऊपर हावी नहीं होने दें।

आशा करते हैं Friends की आपको हमारे द्वारा FOMO के बारे मे लिखा गया Blog पसंद आया होगा। यदि हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने Friends व Social Media Sites पर Share ज़रूर करें और यदि आपके मन में FOMO से संबंधित कोई सवाल उठ रहा है तो आप Comment करके पूछ सकते हैं तथा भविष्य में ऐसी ही रोचक जानकारियों के लिए हमारे Blog को follow कर सकते हैं, धन्यवाद।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment