ISRO PSLV Rockets के बारे में पूरी जानकारी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

INTRODUCTION

Friends इस Blog में हम PSLV से संबंधित सभी जानकारियाँ देने वाले हैं। तो दोस्तों यदि आप पीएसएलवी से संबंधित सभी जानकारियाँ प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारा यह Blog शुरू से लेकर अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़े।

PSLV Full Form / Meaning Of PSLV

PSLV Full Form
Polar Satellite Launch Vehicle

ध्रुवीय उपग्रह प्रमोचक वाहन (पी.एस.एल.वी.) भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन-ISRO (Indian Space Research Organization) द्वारा संचालित तीसरी पीढ़ी का Rocket है। पीएसएलवी छोटे और मध्यम आकार के उपग्रहों को अंतरिक्ष में स्थापित करने के काम में लिया जाता है।

पीएसएलवी श्रेणी के Rockets 3800 kg के Payload को LEO (Low Earth Orbit), 1750 kg के Payload को SSO (Sun Synchronous Orbit), 1200 kg के Payload को GTO (Geostationary Transfer Orbit) में स्थापित करने में सक्षम हैं।

Specifications

  • ऊंचाई : 144 ft (44m)
  • व्यास : 9.2 ft (2.8m)

Mass

  • PSLV-G : 295,000 kg
  • PSLV-CA : 230,000 kg
  • PSLV-XL : 320,000 kg

MISSIONS

सन् 1993 से लेकर 2019 तक इसरो ने पीएसएलवी Rockets के माध्यम से कुल 50 Missions को अंजाम दिया है जिनमें से 47 प्रक्षेपण सफल रहे हैं। इस दौरान इसरो ने कुल 33 देशों के 319 Satellites को अंतरिक्ष में स्थापित किया है। इनमें सबसे प्रमुख है 15 February 2017 का PSLV C37 Mission, जिसमें इसरो ने एक-साथ 104 Satellites को SSO (Sun Synchronous Orbit) में स्थापित कर विश्व रिकॉर्ड बनाया था।

PSLV Rockets के माध्यम से ही भारत का पहला Lunar Probe चन्द्रयान-1, भारत का पहला Interplanetary Mission Mars Orbiter Mission (Mangalyaan), भारत का पहला अंतरिक्ष वेधशाला Astrosat और भारत का पहला GPS (Global Positioning System) जैसे अंतरिक्ष-यान और उपग्रह भेजे जा चुके हैं।

VARIANTS

20 September 1993 को पीएसएलवी Series के पहले Rocket PSLV-D1 का पहला प्रक्षेपण किया गया था जो कि 846 किलो वजनी भारतीय रिमोट सेंसिंग उपग्रह-1 (IRS-1E) को लेकर जा रहा था। यह Mission, Software त्रुटियों के कारण बंगाल की खाड़ी में दुर्घटनाग्रस्त होकर असफल हो गया। एक साल बाद 15 October 1994 को PSLV-D2 द्वारा 804 किलो वजनी भारतीय रिमोट सेंसिंग उपग्रह-P2 (IRS-P2) को सफलतापूर्वक स्थापित किया गया। इसके बाद से PSLV अंतरिक्ष में Satellites भेजने के मामले में ISRO का सबसे कामयाब एवं विश्वसनीय Series है।

PSLV Series में निर्मित सभी प्रमोचक वाहन निम्न हैं

Variants  First Launching  Last Launching

PSLV-G 20 September 1993 26 September 2016
PSLV-CA 23 April 2007  22 May 2019
PSLV-XL 22 October 2008 27 November 2019
PSLV-DL  24 January 2019  ” ” “
PSLV-QL 1 April 2019 11 December 2019
STAGES

PSLV Rockets में Launching प्रक्रिया 4 चरणों में पूर्ण होती है। पीएसएलवी रॉकेट 4 हिस्सों में विभाजित होता है तथा प्रत्येक चरण के पूरा होने के साथ-साथ इसका एक हिस्सा अलग होता रहता है।

More Article

PSLV And GSLV Rocket

 

PSLV Full Form
पहला
चरण

 

  • ऊंचाई : 66 ft (20m)
  • व्यास : 9.2 ft (2.8m)
  • इंजन : S139
  • प्रणोद : 4800 kN
  • विशिष्ट आवेग : 237- 269 sec. (2.32-2.64 km/s)
  • ज्वलन समय : 105 sec.
  • ईंधन : HTPB (ठोस)

दूसरा चरण

  • ऊंचाई : 42 ft (12.8m)
  • व्यास : 9.2 ft (2.8m)
  • इंजन : विकास
  • प्रणोद : 799 kN
  • विशिष्ट आवेग : 293 sec. (2.87 km/s)
  • ज्वलन समय : 158 sec.
  • ईंधन : UDMH+N2O4 (तरल)

तीसरा चरण

  • ऊंचाई : 12 ft (3.6m)
  • व्यास : 6.6 ft (2m)
  • इंजन : S-7
  • प्रणोद : 240 kN
  • विशिष्ट आवेग : 294 sec. (2.89 km/s)
  • ज्वलन समय : 83 sec.
  • ईंधन : HTPB (ठोस)

चौथा चरण

  • ऊंचाई : 9.8 ft (3m)
  • व्यास : 4.3 ft (1.3m)
  • इंजन : 2×L-2-5
  • प्रणोद : 7.6×2 kN
  • विशिष्ट आवेग : 308 sec. (3.02 km/s)
  • ज्वलन समय : 425 sec.
  • ईंधन : MMH/UDMH (तरल)

आशा करते हैं Friends की आपको हमारे द्वारा PSLV के बारे मे लिखा गया Blog पसंद आया होगा। यदि हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने Friends व Social Media Sites पर Share ज़रूर करें और यदि आपके मन में PSLV से संबंधित कोई सवाल उठ रहा है तो आप Comment करके पूछ सकते हैं तथा भविष्य में ऐसी ही रोचक जानकारियों के लिए हमारे Blog को follow कर सकते हैं, धन्यवाद।

Leave a Comment