क्यों किसी के मर जाने पर RIP लिखा जाता है

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Hello Friends आज हम RIP Acronym के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं। दोस्तों यदि आप आरआईपी और इसके उपयोग के इतिहास को जानना चाहते हो तो हमारा यह Blog अंत तक ध्यानपूर्वक जरुर पढ़े।

RIP Full Form /RIP Meaning in Hindi   

RIP FULL FORM
Rest in Peace / शांति से आराम करो

आरआईपी क्या होता है : WHAT IS RIP  ?

आरआईपी (रेस्ट इन पीस), जो कि लैटिन भाषा के Requiescat In Pace से लिया गया है, का उपयोग पारंपरिक ईसाई सेवाओं और प्रार्थनाओं में किया जाता है, जैसे कि कैथोलिक, लूथरन, एंग्लिकन और मेथोडिस्ट संप्रदायों में, एक मृतक की अविनाशी आत्मा के आराम और शांति की कामना करने के लिए करते हैं।

18वीं शताब्दी से कब्र के पत्थरों पर RIP लिखना सर्वव्यापी हो गया था, और वर्तमान में कहीं पर भी किसी की मृत्यु का जिक्र करते समय व्यापक रूप से Rest In Peace वाक्य का उपयोग किया जाता है। इस तरह से RIP का उपयोग मृत व्यक्ति की आत्मा की शांति के लिए करते हैं।

वैसे यदि देखा जाए तो Rest In Peace का हिंदी अर्थ होता है, शांति से आराम करो। यह शब्द उनके लिए इस्तेमाल किया जाता है जिन्हें कब्र में दफनाया गया हो, क्योंकि ईसाई और मुस्लिम धर्म के अनुसार मानव शरीर अमर होता है, तथा एकबार मृत्यु के पश्चात क़यामत के दिन आत्मा और शरीर पुनः एक हो जाती हैं।

इस कारण ईसाई धर्म में किसी की मृत्यु के बाद क़यामत के दिन तक शांति से आराम (Rest In Peace) के लिए कहा जाता है। वहीं सनातन धर्म के अनुसार मानव शरीर नश्वर और आत्मा अमर व चंचल होती है। इस कारण मृत्यु के बाद आत्मा भटकती रहती है तथा शरीर को जला दिया जाता है। यही कारण है कि हिन्दू धर्म में किसी व्यक्ति के मरने के बाद उसकी आत्मा की शांति के लिए कामना करते हैं।

इस कारण सनातन धर्म में मृतक को RIP कहकर श्रद्धांजलि देना ठीक नहीं होता।

आरआईपी का इतिहास : HISTORY OF RIP 

RIP Full Form
 

RIP वाक्यांश पहली बार पांचवीं शताब्दी से कुछ समय पहले के कब्रों पर पाया गया था। यह 18वीं शताब्दी में ईसाइयों की कब्रों पर और विशेष रूप से उच्च चर्च एंग्लिकन, मेथोडिस्ट्स के साथ-साथ रोमन कैथोलिकों के लिए सर्वव्यापी बन गया। यह एक प्रार्थनापूर्ण अनुरोध को दर्शाता है, जो कि मृत्यु के बाद व्यक्ति की आत्मा की शांति के लिए बोला जाता था।

वाक्यांश Dormit In Pace (वह शांति से सोता है) प्रारंभिक ईसाइयों के कब्रिस्तानों में पाया गया था, जो यह संकेत देता था कि “मृतक चर्च की शांति में मर गए, अर्थात् मसीह में एकजुट हो गए।”

संक्षिप्त रूप में R.I.P, जिसका अर्थ है Rest In Peace, को ईसाईयों विशेष रूप से कैथोलिक, लुथेरन और एंग्लिकन संप्रदायों की समाधि के पत्थरों पर उकेरा जाता है।

कैथोलिक चर्च के ट्राइडेंटिन रिक्वायरम मास में यह वाक्यांश कई बार दिखाई देता है। कब्रों पर दोहे गाने के एक प्रचलन को संतुष्ट करने के लिए, वाक्यांश को इस तरह से अनजाने में प्रस्तुत किया गया है

Requiesce Cat In Pace

यह श्लोक बेट शियरिम के कब्रिस्तान में 1 शताब्दी ईसा पूर्व डेटिंग वाले कब्र के पत्थर पर हिब्रू में अंकित किया गया है। यह एक ऐसे धार्मिक व्यक्ति की बात करता है, जो अपने आसपास की बुराई को बर्दाश्त नहीं कर सका और मर गया।

इन शब्दों की एक पुनर्स्थापना, “Come And Rest In Peace” के रूप में पढ़ी गई, 3 शताब्दी ई.पू. के हिब्रू और अरामीक के मिश्रण में प्राचीन तल्मूडिक प्रार्थनाओं में स्थानांतरित कर दी गई है। यह आज तक पारंपरिक यहूदी समारोहों में इस्तेमाल किया जाता है।

More Full Forms

R.I.P क्या होता है समझये हिंदी में

 
जब यह वाक्यांश पारंपरिक हो गया, तो आत्मा के संदर्भ के अभाव ने लोगों को यह मानने के लिए प्रेरित किया कि यह भौतिक शरीर था, जिसे कब्र में शांति से रहने के लिए दफनाया गया था। यह ईसाई मत के एक विशेष मान्यता के साथ जुड़ा हुआ है, वह यह है कि मृत्यु के बाद जो आत्मा और शरीर अलग हुए हैं, वही आत्मा और शरीर क़यामत के दिन फिर से एक हो जायेंगे।

2017 में, उत्तरी आयरलैंड में ऑरेंज ऑर्डर के सदस्यों ने प्रोटेस्टेंट ईसाइयों को “आरआईपी” या “रेस्ट इन पीस” वाक्यांश का उपयोग बंद करने की अपील की। इवेंजेलिकल प्रोटेस्टेंट सोसाइटी के सचिव वालेस थॉम्पसन ने बीबीसी रेडियो के उलेस्टर कार्यक्रम पर कहा कि वह प्रोटेस्टेंट को “आरआईपी” शब्द का उपयोग करने से परहेज करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे।

थॉम्पसन ने कहा कि वह “RIP” को मृतकों के लिए प्रार्थना के रूप में सम्मान करता है, लेकिन वह उसे बाइबिल के सिद्धांत के विपरीत मानता है। उसी रेडियो कार्यक्रम में, प्रेस्बिटेरियन केन नेवेल ने उनके इस बात पर असहमति जताई और बताया कि लोग इस वाक्यांश का उपयोग करते हुए मृतकों के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।

आशा करते हैं Friends की आपको हमारे द्वारा RIP के बारे मे लिखा गया Blog पसंद आया होगा। यदि हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने Friends व Social Media Sites पर Share ज़रूर करें और यदि आपके मन में RIP से संबंधित कोई सवाल उठ रहा है तो आप Comment करके पूछ सकते हैं तथा भविष्य में ऐसी ही रोचक जानकारियों के लिए हमारे Blog को follow कर सकते हैं, धन्यवाद।

Leave a Comment