Google क्या है इसकी शुरुआत कब और कैसे हुई थी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

हैल्लौ दोस्तों आज हम आपको दुनिया की सबसे बड़ी प्रौद्योगिकी (Technology) कंपनियों में से एक Alphabet एवं दुनिया के सबसे बड़े Search Engine, Google के बारे में बताने वाले हैं। Friends इस लेख में हम Google, इसके इतिहास तथा विभिन्न Technologies जिन पर यह काम करती है, के बारे में पूरी जानकारी देंगे।

ABOUT GOOGLE

Google LLC अमेरिका की एक Multinational Technology Company है। यह इंटरनेट से संबंधित सेवाओं और उत्पादों को उपलब्ध कराती है, जिसमें ऑनलाइन विज्ञापन प्रौद्योगिकी, सर्च इंजन, क्लाउड कंप्यूटिंग, सॉफ़्टवेयर और हार्डवेयर शामिल हैं। इसे Amazon, Apple और Facebook के साथ दुनिया की चार सबसे बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनियों में से एक माना जाता है।

Google की स्थापना सितंबर 1998 में लैरी पेज (Larry Page) और सर्गेई ब्रिन (Sergey Brin) द्वारा की गई थी। उस समय वे दोनों स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय, कैलिफोर्निया में पीएच.डी. के छात्र थे। वर्तमान में इसका मुख्यालय 1600 Amphitheatre Parkway, Mountain View, California, United States में स्थित है।

Google Full Form 

Google : Global Organization of Oriented Group Language of Earth

गूगल का मतलब क्या है / Google Meaning in Hindi

G: Global (वैश्विक)
O: Organization (संगठन)
O: Of Oriented (उन्मुखी)
G: Group (समूह)
L: Language Of (भाषा)
E: Earth (पृथ्वी)

Google के अन्य Full Form

GOOGLE – Giving Opinions & Options Generously Linked Everywhere

GOOGLE – Go Online or Go Look Everywhere

GOOGLE – God’s Own Official Guide to Locating Everything

GOOGLE – Global Online Options and Greatly Linked Education

GOOGLE – Gracious Opinions of God’s Living Entities.

HISTORY OF GOOGLE

GOOgle full form

जनवरी 1996 में लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन द्वारा एक शोध परियोजना के रूप में Google की शुरुआत हुई थी। Sergey Brin और Larry Page जब Ph.D की पढ़ाई कर रहे थे, तब उन्होंने अपने Research Project के सर्च इंजन में कुछ अलग करने की सोची और वह सोच थी “अगर हम एक ऐसे सर्च इंजन का निर्माण करें जो एक Website को दूसरी websites के साथ तुलना करके Rank करें” तो ज्यादा बेहतर होगा।

जबकि उस समय के पारंपरिक सर्च इंजन सुझाव (रिजल्ट) की वरीयता वेब-पेज पर सर्च किए गए शब्द की गणना से तय करते थे अर्थात् जो शब्द सर्च किया गया है वह उस वेबपेज में कितनी बार आया है। जबकि लैरी और सर्गेई का मानना था कि एक अच्छा सर्च इंजन वह होगा जो वेबपेजों के आपस के संबंधों का विश्लेषण करे।

इस नयी तकनीक को उन्होंने पेजरैंक (PageRank) का नाम दिया। इस तकनीक में किसी वेबसाइट की प्रासंगिकता/योग्यता का अनुमान, वेबपेजों की गिनती तथा उन पेजों की प्रतिष्ठा, जो आरम्भिक वेबसाइट को लिंक करते हैं, के आधार पर तय किया जाता है।

इस परियोजना की शुरुआत में एक अनौपचारिक “तीसरा संस्थापक” Scott Hassan भी शामिल थे। जो कि मूल लीड प्रोग्रामर थे तथा इन्होंने ही Google सर्च इंजन के लिए अधिकांश कोड लिखा था। लेकिन उन्होंने Google को, आधिकारिक रूप से एक कंपनी के रूप में स्थापित होने से पहले ही छोड़ दिया था।

Page और Brin ने मूल रूप से नए सर्च इंजन का NicknameBackRub” रखा था, क्योंकि उनका यह सिस्टम वेबसाईट्स के महत्व और Rank का अनुमान लगाने के लिए Backlinks की जांच करता था।

बाद में, उन्होंने इसका नाम बदलकर Google कर दिया। सर्च इंजन का यह नाम “Googol” शब्द की एक गलत वर्तनी (Misspelling) से उत्पन्न हुआ है, Googol एक बहुत बड़ी संख्या 1 के बाद 100 शून्य को कहते हैं। उन्होंने इसका उपयोग यह संकेत करने के लिए चुना था कि सर्च इंजन का उद्देश्य बड़ी मात्रा में जानकारी प्रदान करना था।

Google के लिए Domain Name 15 सितंबर 1997 को पंजीकृत किया गया था और 4 सितंबर 1998 को इसे एक कंपनी के रूप में बाज़ार में शामिल किया गया था। इसे पहली बार कैलिफ़ोर्निया के मेनलो पार्क में उनके एक दोस्त (सुसान वोजिकी) के गैराज में शुरू किया गया था।

GOOgle full form
Google – 1997 – 98

Google को सबसे पहले अगस्त 1998 में Sun Microsystems के सह-संस्थापक एंडी बक्टोल्सहेम से $100,000 का Fund मिला था। मार्च 1999 में, कंपनी ने अपने कार्यालय को पालो अल्टो, कैलिफोर्निया में स्थानांतरित कर दिया। इसके अगले वर्ष से Google ने सर्च कीवर्ड से जुड़े विज्ञापन बेचना शुरू कर दिया

लेकिन पेजों का डिज़ाइन सुव्यवस्थित बनाए रखने के लिए, विज्ञापन पूरी तरह से टेक्स्ट-आधारित होते थे। इसके बाद Google ने Advertising के माध्यम से Revenue को बढ़ाने के लिए DoubleClick को खरीदा तथा Websites पर Ads को सही ढंग से दिखाने के लिए AdMob और AdSense को Launch किया। इसके बाद से गूगल की Grouth लगातार बढ़ती रही तथा कंपनी ने फिर कभी पिछे मुड़कर नहीं देखा।

Google ने जबसे Revenue Generate शुरू किया तबसे उसने दूसरी कंपनियों का अधिग्रहण करना चालू कर दिया। इससे कंपनी का Revenue लगातार बढ़ता ही गया। निगमन के बाद से कंपनी की तीव्र वृद्धि ने Google के मुख्य सर्च इंजन से परे उत्पादों, अधिग्रहण और साझेदारी की एक श्रृंखला को चालू कर दिया है।

Google ने शुरुआत से लेकर कई महत्वपूर्ण कंपनियों का अधिग्रहण किया है जैसे DoubleClick, YouTube, Android, Motorola Mobility, Google Maps & Earth आदि।

अगस्त 2015 में, Google ने अपने विभिन्न क्षेत्रों के Products And Services को और अधिक बढ़ाने के लिए Alphabet Inc. नामक समूह की शुरुआत की तथा अपने सभी सेवाओं को इसके Under में शामिल किया अर्थात् Alphabet अब उसकी सर्वोच्च कंपनी बन गई थी।

PRODUCTS OF GOOGLE

अबतक दी गईं जानकारियों के माध्यम से आप समझ ही गए होंगे कि Google की कमाई के प्रमुख माध्यमों में Google Search Engine के अलावा भी कई महत्वपूर्ण Products शामिल हैं। तो चलिए अब हम जान लेते हैं कि Google Search Engine के अलावा Alphabet Inc. के तहत और कौन-कौन से क्षेत्रों में काम करता है:-

  • Search Engine Google : Google के प्रारंभ में सर्च इंजन ही इसकी कमाई का प्रमुख जरिया था। शुरुआत में Google ने वेबपेजो पर Text आधारित Ads बेचने से Revenue Generate किया था। नवंबर 2009 से कॉमस्कोर मार्केट रिसर्च के अनुसार, संयुक्त राज्य अमेरिका के बाजार में Google Search 65.6% की बाजार हिस्सेदारी के साथ प्रमुख सर्च इंजन है।
  • Advertising : Google ने अपने Revenue को बढ़ाने के लिए कई महत्वपूर्ण विधियों का निर्माण किया, इसमें तीन प्रमुख विधियाँ शामिल हैं, जो कि AdMob, AdSense और DoubleClick AdExphange शामिल हैं। इसके बाद से गूगल ने अपने Ads में Text & Images के साथ-साथ video ads भी शुरू किया और YouTube इसके Video Ads को दिखाने का सबसे बड़ा Platform था।
  • Internet : फरवरी 2010 में, Google ने Google फाइबर परियोजना की घोषणा की, जिसमें एक या अधिक अमेरिकी शहरों में 50,000 से 500,000 ग्राहकों के लिए अल्ट्रा-हाईस्पीड ब्रॉडबैंड नेटवर्क बनाने की प्रयोगात्मक योजना शुरू की थी। अल्फाबेट इंक को अपनी मूल कंपनी बनाने के लिए Google के कॉर्पोरेट पुनर्गठन के बाद, Google फाइबर को अल्फाबेट के एक्सेस डिवीजन में स्थानांतरित कर दिया गया।
  • Cloud Computing & Apps : Google ईमेल के लिए Gmail प्रदान करता है, समय-प्रबंधन और समय-निर्धारण के लिए Google Calendar, मानचित्रण, नेविगेशन और उपग्रह इमेजरी के लिए Google Maps, फ़ाइलों के क्लाउड स्टोरेज के लिए Google Drive, Google Docs, Sheets और उत्पादकता के लिए Slides, फोटो स्टोरेज और शेयरिंग के लिए Google Photos, Google Keep नोट्स के लिए, Google Translate अनुवाद के लिए, वीडियो देखने और साझा करने के लिए YouTube आदि सेवाएं प्रदान करता है। मार्च 2019 में, Google ने स्टैडिया नामक क्लाउड गेमिंग सेवा का अनावरण किया था।
  • Software : इसके अन्तर्गत Google ने Android मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ-साथ अपनी स्मार्टवॉच, टेलीविजन, कार, और इंटरनेट ऑफ थिंग्स के लिए सक्षम स्मार्ट डिवाइसेस को विकसित करता है। इसने Google Chrome वेब ब्राउज़र, और क्रोम ओएस, क्रोम पर आधारित एक ऑपरेटिंग सिस्टम भी विकसित किया है।
  • Hardware : जनवरी 2010 में, Google ने Nexus One को अपने स्वयं के ब्रांड “Nexus” के तहत पहला Android फ़ोन जारी किया था। इसने 2016 तक “नेक्सस” ब्रांडिंग के तहत कई फोन और टैबलेटों का निर्माण किया था , जबतक कि Pixel नामक एक नए ब्रांड की शुरुआत ने इसे बंद नहीं कर दिया।

2011 में, Chromebook पेश किया गया था, जिसे Chrome OS पर चलने वाला “नए तरह का कंप्यूटर” कहा गया था।

  • Artificial Intelligence : इसके तहत Google होम, जो कि एक Voice Assistant है, को घरों में रखकर उससे पुछकर विभिन्न प्रश्नों के उत्तर प्राप्त कर सकते हैं, संगीत चला सकते हैं, Applications (कैलेंडर, Weather आदि) से जानकारी पा सकते हैं, और Third-party स्मार्ट घरेलू उपकरणों को नियंत्रित कर सकते हैैं। Google Home की श्रेणी में Google home hub, Google home mini और Google home max जैसे संस्करण भी शामिल हैं। इसके अलावा Google ने Smartphones के लिए Google Assistant का भी निर्माण किया है।

वर्तमान में Google Fuchsia OS जो कि एक Mobile Operating System है तथा Quantum Computer जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर काम कर रहा है।

More Full Forms

Google Success Story

आशा करते हैं Friends की आपको हमारे द्वारा Google के बारे मे लिखा गया Blog पसंद आया होगा। यदि हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने Friends व Social Media Sites पर Share ज़रूर करें और यदि आपके मन में Google से संबंधित कोई सवाल उठ रहा है तो आप Comment करके पूछ सकते हैं तथा भविष्य में ऐसी ही रोचक जानकारियों के लिए हमारे Blog को follow कर सकते हैं, धन्यवाद।

Leave a Comment