MD डिग्री क्या होती है Eligibility Criterias क्या-क्या हैं ?

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आज हम इस लेख में MD डिग्री क्या होती है ? यह डिग्री किस क्षेत्र में प्रदान की जाती है ? डॉक्टर आॅफ मेडिसिन के लिए Eligibility Criterias क्या-क्या हैं? MD के Subjects कौन-कौन से हैं ? एमडी कोर्स की पढ़ाई का Structure कैसा रहता है ?

एमडी कोर्स करने के बाद उपलब्ध करीयर Options क्या-क्या हैं? इत्यादि के बारे में बताने वाले हैं। दोस्तों यदि आप एमडी कोर्स से संबंधित सभी जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारा यह Blog पूरा जरूर पढ़ें।

M.D. Doctor of Medicine

Duration:3 Years
Level:Post Graduation
Type:Degree
Eligibility:M.B.B.S

एमडी डिग्री क्या होती है :  What is MD Degree

md full form

एमडी मूल रूप से लैटिन शब्द “Medicinae Doctor” से लिया गया है, जिसका अर्थ है “चिकित्सा के शिक्षक“। एमडी चिकित्सा के क्षेत्र में सर्वोच्च शैक्षणिक डिग्री है। एमबीबीएस डिग्री धारक इस डिग्री को चिकित्सा और सर्जरी के क्षेत्र में विशिष्टता प्राप्त करने के लिए करते हैं।

एमडी अमेरिका और कनाडा सहित विभिन्न देशों में अधिकांश मेडिकल कॉलेजों द्वारा प्रदान किए जाने वाले चिकित्सकों के लिए दो डॉक्टरेट की डिग्री में से एक है।

Doctor Of Medicine (M.D.) एक Postgraduate Medicine Course (स्नातकोत्तर चिकित्सा पाठ्यक्रम) है। यह Course किसी चुनें हुए, विशेषज्ञता के क्षेत्र (Field Of Specialisation) में गहन जानकारी प्राप्त करने पर आधारित है।

डॉक्टर ऑफ मेडिसिन कोर्स की अवधि 3 वर्ष की होती है, जिसमें एक परीक्षा का सफल समापन शामिल है, जो Theoretical (सैद्धांतिक) और Practical (प्रायोगिक) दोनों चीजों को कवर करता है।

एमडी की परीक्षा 3 शैक्षणिक वर्षों के अंत में आयोजित की जाती है, जिसमें 6 शैक्षणिक सेमेस्टर शामिल होते हैं। M.B.B.S की तुलना में M.D. कोर्स अधिक Practical Oriented (प्रयोगों पर केन्द्रित), और Research Based (शोध-आधारित) है।

मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया, यह वह प्राधिकरण है जो डॉक्टर ऑफ मेडिसिन डिग्री कोर्स के लिए विभिन्न संस्थानों को पहचानता और उन्हें मान्यता प्रदान करता है।

चूंकि इस Course (पाठ्यक्रम) में प्रासंगिक विषयों का गहन अध्ययन शामिल होता है, इसलिए यदि आप यह कोर्स करना चाहते हैं तो आपको भी दिमाग को चकरा देने वाले अध्ययन के लिए तैयार रहना चाहिए। यह मुख्य रूप से उच्च वेतन पैकेज के कारण मेडिकल स्नातकों द्वारा अपनाई जाने वाली सबसे लोकप्रिय Courses में से एक है।

MD Full Form or MD Meaning in English

MD Full Form in English
Doctor of Medicine/Medicinae Doctor

MD FUll Form in Hindi

MD Full Form in Hindi
चिकित्सा के शिक्षक

ELIGIBILITY CRITERIA FOR M.D.

डॉक्टर आॅफ मेडिसिन के लिए निर्धारित आवश्यक Eligibility Criteria निम्नलिखित हैं:-

  • पहले सेB.B.S. डिग्री धारी हर व्यक्ति M.D. Course में प्रवेश की योग्यता प्रतिबंधित है। इसके लिए वे एमबीबीएस डिग्री धारक ही आवेदन कर सकते हैं जिनका Certificate मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा मान्यता प्राप्त है।
  • वहीं अगर बात करें Percentage की तो प्रतिशत मानदंड एक संस्थान से दूसरे संस्थान में भिन्न हो सकते हैं। इसमें विभिन्न चिकित्सा विषयों में प्रशिक्षण प्राप्त किया जाता है जो कि प्राकृतिक रूप से गैर-सर्जिकल होते हैं जैसे कि आंतरिक चिकित्सा, रेडियोलॉजी, और पैथोलॉजी आदि। इसमें Medical की प्रतिष्ठित Entrance Exam में प्राप्त रैंक प्रवेश के लिए आधार बनाती है।
  • कुछ संस्थान व्यक्तिगत साक्षात्कार का आयोजन भी कर सकते हैं जो कि प्रवेश प्रक्रिया का एक हिस्सा होता है।

SUBJECTS OF M.D.

अगर डॉक्टर आॅफ मेडिसिन के Subjects की बात करें तो यह हर किसी के पसंद की विशिष्टता के आधार पर अलग-अलग हो सकते हैं। डॉक्टर आॅफ मेडिसिन में विशेषज्ञता के महत्वपूर्ण विषय निम्नलिखित हैं:-

  1. MD – Cardiology
  2. MD – Clinical Haematology
  3. MD – Clinical Pharmacology
  4. MD – Endocrinology
  5. MD – Gastroenterology
  6. MD – Medical Gastroenterology
  7. MD – Medical Oncology
  8. MD – Neonatology
  9. MD – Nephrology
  10. MD – Neurology
  11. MD – Neuro-Radiology
  12. MD – Pulmonary Medicine
  13. MD – Rheumatology

एमडी कोर्स की संरचनात्मक रूपरेखा : STRUCTURAL OUTLINE OF M.D. COURSE 

इस कोर्स के पाठ्यक्रम में निम्नलिखित चीजें शामिल होती हैं

  • Lecture
  • Thesis
  • Theory Papers
  • Clinical/Practical
  • Oral Examinations
  • Seminars
  • Journal Clubs
  • Group Discussions
  • Participation In Laboratory And Experimental Work

Examination : एमडी की परीक्षा 3 शैक्षणिक वर्षों के अंत में आयोजित की जाती हैं जिसमें 6 शैक्षणिक सेमेस्टर शामिल होते हैं। प्रशिक्षण के अंत में उम्मीदवार के ज्ञान, कौशल और क्षमता को Evaluate और Certify करने के लिए ‘ग्रेडिंग’ या ‘मार्किंग सिस्टम’ के आधार पर परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं। परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए Theory के साथ-साथ Practical में न्यूनतम 50% अंक प्राप्त करना अनिवार्य होता है।

Thesis : इसके तहत प्रत्येक उम्मीदवार को एक मान्यता प्राप्त स्नातकोत्तर शिक्षक के मार्गदर्शन में एक निर्धारित शोध परियोजना पर‌ रिसर्च वर्क करना पड़ता है, फिर उसके परिणाम को बाद में एक थीसिस (शोध पत्र) के रूप में लिखना और प्रस्तुत करना पड़ता है।

इस थीसिस को थ्योरी और क्लिनिकल/प्रैक्टिकल परीक्षा से कम से कम 6 महीने पहले प्रस्तुत करना पड़ता है। फिर इस थीसिस की जांच न्यूनतम 3 परीक्षकों द्वारा की जाती है,

जिसमें एक आंतरिक और 2 बाहरी परीक्षक होते हैं (ये परीक्षक थ्योरी और क्लिनिकल परीक्षा के परीक्षक नहीं हो सकते)। इस थीसिस की परीक्षकों द्वारा स्वीकृति के बाद ही किसी उम्मीदवार को थ्योरी और प्रैक्टिकल / क्लिनिकल परीक्षा में उपस्थित होने की अनुमति मिलती है।

Criteria for Evaluation of M.D. Course

1.Theory
No. of Theory Papers4
Marks for each Theory Paper100
Total marks for Theory Paper400
Passing Minimum for Theory200/400 (40% minimum in each paper)
2.Practical/Clinical300
3.Oral100
Passing minimum for Practical/Clinical including Oral200/400
Passing Minimum:
The candidate shall secure not less than 50% marks in each head of passing which shall include:
(1) Theory – aggregate 50% (In addition, in each Theory paper a candidate has to secure a minimum of 40%)
(2) Practical/Clinical/Viva – aggregate 50%
(3) If any candidate fails even under one head, he/she has to re-appear for both Theory and Practical/Clinical/Viva examination.

एमडी करने के बाद करीयर विकल्प : CAREER OPTIONS AFTER MD 

एमबीबीएस और एमडी पूरा करने के बाद, आप निजी प्रैक्टिस, सरकारी और निजी अस्पतालों, पब्लिक हेल्थ ऑर्गनाइजेशन, आर्मी आदि जैसी कई प्रैक्टिस सेटिंग के लिए सक्षम हो जाते हैं।

भारत में डॉक्टरों को बहुत अधिक सम्मान और पैसा मिलता है। यह बहुत ही सम्मानजनक और आत्मा संतुष्टि प्रदान करने वाला काम है।

Doctor of Medicine Employment Areas

  • Biomedical Companies
  • Health Centres
  • Hospitals
  • Laboratories
  • Medical Colleges
  • Medical Foundation/Trust
  • Non-Profit Organizations
  • Nursing Homes
  • Pharmaceutical and Biotechnology Companies
  • Polyclinics
  • Private Practice
  • Research Institutes 

Doctor of Medicine Job Types

  • Anaesthetist or Anaesthesiologist
  • Bacteriologist
  • Cardiologist
  • Chief Medical Officer (CMO)
  • Chiropodist
  • Clinical Laboratory Scientist
  • Dermatologist
  • E.N.T. Specialist
  • Enterologist
  • Gastroenterologist
  • General Practitioner
  • General Surgeon
  • Gynaecologist
  • Hospital Administrator
  • Medical Admitting Officer
  • Neurologist
  • Nutritionist
  • Obstetrician
  • Orthopaedist
  • Paediatrician
  • Pathologist
  • Physician
  • Physiologist
  • Psychiatrist
  • Radiologist
  • Resident Medical Officer

M.D. Doctor of Medicine

MORE FULL FORMS

MSCIT FULL FORM ITI FULL FORM
SCVT FULL FORMRTGS FULL FORM
PWD FULL FORM BFF FULL FORM
SOS FULL FORMNAAC FULL FORM
PSLV FULL FORMENIAC FULL FORM
DDT FULL FORMNDRF FULL FORM
FOMO FULL FORMSOP FULL FORM
PDF FULL FORMHTML FULL FORM
ECS FULL FORMNEFT FULL FORM
IRCTC FULL FORMGPS FULL FORM
IPL FULL FORMIMPS FULL FORM
IMF FULL FORM AM & PM FULL FORM 

आशा करते हैं Friends की आपको हमारे द्वारा Doctor Of Medicine के बारे मे लिखा गया Blog पसंद आया होगा। यदि हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने Friends व Social Media Sites पर Share ज़रूर करें

यदि आपके मन में MD से संबंधित कोई सवाल उठ रहा है तो आप Comment करके पूछ सकते हैं तथा भविष्य में ऐसी ही रोचक जानकारियों के लिए हमारे Blog को follow कर सकते हैं, धन्यवाद।

Leave a Comment