सीआईडी (CID) क्या है सीआईडी का क्या काम होता है ?

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आज इस लेख में हम आपको बतायेंगे कि CID का Full Form क्या होता है ? सीआईडी क्या होता है? सीआईडी के प्रारंभ से लेकर अबतक का इतिहास क्या रहा है? सीआईडी के संगठन की संरचना कैसी होती है ?

आप एक सीआईडी अफसर कैसे बन सकते हैं ? आदि। इसलिए यदि आप सीआईडी से संबंधित समस्त जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारा यह Blog ध्यानपूर्वक अंत तक अवश्य पढ़े।

सीआईडी क्या है : WHAT IS CID 

CID, यह भारतीय राज्य पुलिस की एक खुफिया जांच शाखा है। यह भारत में पुलिस संगठन की सबसे महत्वपूर्ण इकाइयों में से एक है और इसका नेतृत्व अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (ADGP) करता है।

इसका मुख्यालय पुणे (महाराष्ट्र) में है और यह भारत में राज्य सरकारों, राज्यों के उच्च न्यायालयों द्वारा सौंपे गए निर्दिष्ट मामलों की जांच करता है। पुलिस आयोग की सिफारिश पर देश में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए 1902 में ब्रिटिश सरकार द्वारा इसका गठन किया गया था।

विभाग के पास अधिकारियों की अपनी रैंक होती है जो आमतौर पर सादे कपड़ों में काम करते हैं। इन अधिकारियों को जासूस (Detective) या सीआईडी ​​अधिकारी के रूप में जाना जाता है।

1929 में इस विभाग को दो विशेष शाखाओं, CID और Crime Branch CID (CB-CID) में विभाजित किया गया था।

CID FULL FORM IN ENGLISH 

CID FULL FORM IN ENGLISH
Crime Investigation Department

CID FULL FORM IN HINDI 

CID FULL FORM IN HINDI
अपराध जांच विभाग

सीआईडी का इतिहास : HISTORY OF CID 

पुलिस आयोग की सिफारिश पर देश में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सन् 1902 में ब्रिटिश सरकार द्वारा सीआईडी का गठन किया गया था। उस समय के गोखले मार्ग, लखनऊ में स्थित सीआईडी के आॅफिस के द्वार पर राय बहादुर पंडित शंभु नाथ की मूर्ति लगी है,

जिस पर लिखा है : King’s Police Medlist (KPM) And Member Of British Empire (MBE) एवं इसके Caption में “Father Of Indian CID” लिखा है। सन् 1929 में, सीआईडी को दो विशेष शाखाओं, CID और Crime Branch (CB-CID) में बांट दिया गया।

सीआईडी के कार्य : WORKS OF CID 

आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) का मुख्य कार्य बलात्कार, हत्या, चोरी, डकैती आदि आपराधिक मामलों की जांच करना है। यह आपराधिक और धोखाधड़ी के मामलों के लिए तथ्यों और सबूतों को एकत्र करता है

अपराधियों को पकड़ता है एवं अंत में आरोपिओं को सबूतों के साथ अदालत में पेश करता है। ये जांचें अपराध के स्तर के आधार पर कई शहरों, और राज्यों में विस्तृत हो सकती हैं। वहीं कई मामलों की जांच के लिए CID की टीम स्थानीय पुलिस की मदद भी लेती है।

सीआईडी संगठन की संरचना : CID ORGANIZATION STRUCTURE 

BRANCHES : वैसे देखा जाए तो सीआईडी की कई शाखाएं हैं जैसे

  • CB-CID (Crime Branch-CID)
  • Anti-Narcotics Cell
  • Anti-terrorism Wing
  • Anti-Human Trafficking & Missing Person Cell
  • Fingerprint Bureau
  • Bank Frauds
  • Dog Squad
  • Human Rights Department

OFFICERS : सीआईडी के विभिन्न Ranks के अधिकारी निम्न प्रकार से हैं

  • अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (Additional Director General Of Police‌ – ADGP)
  • पुलिस महानिरीक्षक (Inspector General Of Police – IGP)
  • महा उपनिरीक्षक (Deputy Inspector General – DIG)
  • पुलिस अधीक्षक (Superintendent Of Police – SP)
  • पुलिस उपाधीक्षक (Deputy Superintendent Of Police – DSP)
  • इंस्पेक्टर (Inspector)
  • अधीक्षक (Superintendent)
  • अवर निरीक्षक (Sub-Inspector – SI)
  • सहायक अवर निरीक्षक (Assistant Under Inspector)
  • सिपाही (Constable)

CID Officers अक्सर अपनी Rank से पहले ‘Detective’ शब्द लगातें हैं जैसे Detective Sub-Inspector, Detective Inspector, Detective Superintendent इत्यादि।

CID और CBI में क्या अंतर होता है ?

CID और CBI सामान्य तौर पर दो अलग अलग जांच एजेंसियां हैं और इनके जाँच का क्षेत्र भी  अलग-अलग होता है. CID जहाँ एक प्रदेश के अन्दर घटित होने वाली घटनाओं की जाँच करती है और यह राज्य सरकार के आदेश पर काम करती है

वहीँ CBI पूरे देश में होने वाली विभिन्न घटनाओं की जाँच का काम संभालती है और इसको आदेश देने का अधिकार केंद्र सरकार, उच्च न्यायालय और सुप्रीम कोर्ट के पास होता है

सीआईडी अफसर कैसे बनें : HOW TO BECOME A CID OFFICER 

सीआईडी का अफसर बनने के लिए किसी भी उम्मीदवार (Candidate) को भारत का नागरिक होना अनिवार्य है। सीआईडी ​​में सब इंस्पेक्टर या एक अफसर के रूप में शामिल होने के लिए उम्मीदवार की न्यूनतम योग्यता किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक (Graduation) की होनी चाहिए।

हालांकि, सीआईडी ​​में एक कांस्टेबल के रूप में शामिल होने के लिए आवश्यक न्यूनतम योग्यता 12वीं या उच्चतर माध्यमिक Certificate होना जरूरी है।

यहां तक ​​कि ये योग्यताएं भी एक सीआईडी ​​अधिकारी बनने के लिए पर्याप्त नहीं है, इसके लिए भारतीय सिविल सेवा परीक्षा को भी Clear करना होगा जो कि हर साल संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission – UPSC) द्वारा आयोजित की जाती है।

भारत में कई विश्वविद्यालय हैं जो स्नातक स्तर पर अपराधशास्त्र (Criminology) के लिए पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं। ये पाठ्यक्रम आपको CID में शामिल होने में मदद कर सकते हैं।

इसके अलावा, उम्मीदवार के पास एक Excellent Memory, तेज आँखें, अच्छा निर्णय लेने, एक टीम में या अकेले काम करने की क्षमता होनी चाहिए। ये सभी इस नौकरी की मूलभूत आवश्यकताएं हैं।

MORE FULL FORMS

MSCIT FULL FORM ITI FULL FORM
SCVT FULL FORMRTGS FULL FORM
PWD FULL FORM BFF FULL FORM
SOS FULL FORMNAAC FULL FORM
PSLV FULL FORMENIAC FULL FORM
DDT FULL FORMNDRF FULL FORM
FOMO FULL FORMSOP FULL FORM
PDF FULL FORMHTML FULL FORM
ECS FULL FORMNEFT FULL FORM
IRCTC FULL FORMGPS FULL FORM
IPL FULL FORMIMPS FULL FORM
IMF FULL FORM AM & PM FULL FORM 
MD FULL FORM CBI FULL FORM 
COVID-19 FULL FORMCAA , NPR , NRC FULL FORM

आशा करते हैं Friends की आपको हमारे द्वारा CID के बारे मे लिखा गया Blog पसंद आया होगा। यदि हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने Friends व Social Media Sites पर Share ज़रूर करें और

आपके मन में CID से संबंधित कोई सवाल उठ रहा है तो आप Comment करके पूछ सकते हैं तथा भविष्य में ऐसी ही रोचक जानकारियों के लिए हमारे Blog को follow कर सकते हैं, धन्यवाद।

TAGS : CID FULL FORM , CID KA FULL FORM , CID HINDI , CID VS CBI , CID LONG FORM , CID FULL FORM IN ENGLISH , CID FULL FORM IN HINDI 

Leave a Comment